Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Classic Header

{fbt_classic_header}

Breaking News

latest

जिला अस्पताल में लगाई गई बहुउद्देशीय मशीन "ट्रू नॉट"।

 जिला अस्पताल में तैनात डॉक्टर तथा स्वास्थ्य कर्मियों के साथ आम लोगों को कोरोना जैसी गंभीर महामारी से बचाने के लिए उत्तर प्रदेश सरकार ...




 जिला अस्पताल में तैनात डॉक्टर तथा स्वास्थ्य कर्मियों के साथ आम लोगों को कोरोना जैसी गंभीर महामारी से बचाने के लिए उत्तर प्रदेश सरकार ने अच्छी पहल शुरू करते हुए प्रदेश के सभी 75 जिलों में कोरोना का टेस्ट 2 घंटे के अंदर करने वाली मशीन लगाने का फैसला लिया था जिसके तहत अमेठी जिला अस्पताल में ट्रू नॉट मशीन लगा दी गई है और यह कार्य भी कर रही है जिसके चलते अब अस्पताल कर्मियों को किसी भी प्रकार की समस्या का सामना नहीं करना पड़ेगा। क्योंकि इसके पूर्व अमेठी जिला अस्पताल में एक गर्भवती महिला के कोरोनावायरस के संक्रमित होने के बावजूद पता न चलने के कारण आनन-फानन में उसका ऑपरेशन करना पड़ा था जिसके चलते जिला अस्पताल के सीएमएस डॉ आरके सक्सेना व एनेस्थेटिक एनके मिश्रा सहित अस्पताल के सभी स्वास्थ्य कर्मियों को क्वॉरेंटाइन कर दिया गया था। इसी के साथ जिला अस्पताल को 2 दिन के लिए पूरी तरह बंद करना पड़ा था। फिलहाल  सब सुरक्षित है ।ऐसे में तत्काल ऑपरेशन करने की जरूरत वाले मरीजों के लिए अब सरकार द्वारा प्रदत्त इस मशीन से 2 घंटे के अंदर कोरोना की जांच हो सकेगी इसके उपरांत जैसी आवश्यकता होगी उस हिसाब से उसका इलाज और ऑपरेशन किया जा सकेगा। यह मशीन लगने के बाद अभी तक लगभग 22 टेस्ट हो चुके हैं और सभी नेगेटिव आए हैं इस मशीन से 2 घंटे में एक साथ दो टेस्ट किए जा सकते हैं।

 वहीं पर इस मशीन के विषय में जब जिला अस्पताल के सीएमएस डॉ राकेश कुमार सक्सेना से बात की गई तो उन्होंने बताया कि ट्रू नॉट मशीन हमारे अस्पताल में 10 दिन हो गया है लगे हुए उत्तर प्रदेश के माननीय मुख्यमंत्री जी प्रदेश के सभी 75 जिलों में इसका उद्घाटन किया है। इस मशीन से हम कोविड-19 सहित अन्य तमाम बीमारियों की जांच कर सकते हैं। इसका फायदा हमारे लिए यह है कि आपको ध्यान होगा कि हमारे यहां गर्भवती महिलाएं पॉजिटिव निकली थी तत्परता से उनकी जांच कराई गई थी। इमरजेंसी में उनका इलाज तो किया गया ऑपरेशन भी हुआ और जब कोरोनावायरस की जांच कराई गई तो वह संक्रमित निकली। जिसके चलते जिला अस्पताल को हमको 2 दिन के लिए बंद करना पड़ा था। जिस महिला की डिलीवरी करानी है उसको हम इंतजार नहीं करा सकते हैं। ट्रूनेट मशीन 2 घंटे में रिजल्ट देती है। यह इमरजेंसी वाले लोगों के लिए है जिनको हम एडमिट कर रहे हैं। और जिनकी डिलीवरी करा रहे हैं इससे उनकी जांच की जाएगी। अगर वह पॉजिटिव है तो इलाज उन्हें तब भी मिलेगा लेकिन तब प्रॉपर तरीके से हमारे हेल्थ वर्कर पीपीई किट पहन कर उनके पास जाएंगे। अन्यथा फेस मास्क उपलब्ध इत्यादि तो प्रत्येक मरीजों के पास जाते हैं तब भी पहने रहते हैं ।लेकिन संक्रमित मरीज के पास जाएंगे तो पीपीई किट पहनकर और पूरे प्रोटोकॉल का पालन करते हुए जाएंगे। यह मशीन 2 घंटे में रिजल्ट दे देती है यह हमारे फायदे के लिए बहुत अच्छी सिचुएशन है। जब भी हम डिलीवरी कराते हैं तो उसका ट्रू नॉट से जांच कराते हैं। नेगेटिव होती है तो सामान्य तरीके से कराते हैं पॉजिटिव होने पर पीपीई किट के साथ कराते हैं। इससे सबसे बड़ा लाभ यह है कि संक्रमित मरीज आने के बाद हमको अस्पताल को बंद करने की जरूरत नहीं पड़ती है। इससे कोरोनावायरस के टेस्ट सहित स्वाइन फ्लू, बर्ड फ्लू का टेस्ट , एचआईवी, हेपेटाइटिस बी, सी, इत्यादि जो भी टेस्ट हैं सब इस मशीन से की जा सकती है इसमें बहुत सी जाचें हो सकती हैं। सब जांचों की अलग-अलग किट आती है अभी तो हमारे पास करोना के जांच की ही किट मौजूद है ।अभी तो सिर्फ कोरोनावायरस की जाँच करने वाली ही किट सप्लाई हुई है। आगे और जांचों की आवश्यकता होगी और उसकी किट आएगी तो वह सभी जांचे यहां पर हो जाएंगी। यह मशीन जिला अस्पताल के लिए बहुत ही लाभकारी है और उन्हें नहीं यदि और कोई बीमारी भी फैलती है तो उसमें यह मशीन काम आएगी।




No comments