Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Classic Header

{fbt_classic_header}

Breaking News

latest

भुखमरी की कगार पर आ गया है भड़ारी का चौकीदार, सचिव साधे है मौन

हरिओम बुधौलिया/कोंच- कोंच विकास खंड के अंतर्गत आने वाले ग्राम भड़ारी में गौशाला में तैनात चौकीदार को वेतन न मिल पाने से वह भुखमरी की कगार पर ...



हरिओम बुधौलिया/कोंच-
कोंच विकास खंड के अंतर्गत आने वाले ग्राम भड़ारी में गौशाला में तैनात चौकीदार को वेतन न मिल पाने से वह भुखमरी की कगार पर आ गया है। पीड़ित चौकीदार ने वेतन दिलाने की ग्राम पंचायत सचिव से लेकर अन्य अधिकारियों से भी गुहार लगा चुका है लेकिन उसकी सुनवाई नहीं हुई है।
कोंच विकास खण्ड के ग्राम  भड़ारी के चौकीदार ने बताया कि वह आठ माह से गांव की गौशाला में तैनात है। ग्राम पंचायत सचिव द्वारा उससे 200 रुपये प्रतिदिन यानी 6 हजार रुपये प्रतिमाह की कहकर रखा गया था। तबसे लेकर वह अब तक गौशाला में गायों की देखरेख व गायों को चराने व पानी आदि पिलाने से लेकर सभी कार्य करता है। चौकीदार ने बताया कि जबसे वह गौशाला में तैनात है तबसे लेकर अभी तक उसे मात्र 3 हजार रुपये दिए गए है जबकि उसको 6 हजार रुपये प्रतिमाह देने की बात बात कही गई थी लेकिन उसको वेतन न मिलने से वह भुखमरी की कगार पर आ गया है, चौकीदार बहुत गरीब है और मजदूर है। समय पर वेतन न मिलने से वह बहुत ही परेशान है। पीड़ित चौकीदार ग्राम पंचायत सचिव से कई बार वेतन दिलाने को कह चुका है लेकिन सचिव है की इस ओर ध्यान ही नहीं दे रहे है। पीड़ित ग्राम पंचायत सचिव के अलावा ब्लाक के अधिकारियों व अन्य अधिकारियों से भी लिखित रूप से अवगत करा चुका है लेकिन अभी तक महज 3 हजार से ही चौकीदार को संतोष करना पड़ा। इन समय कोरोना वायरस से जहां पूरा देश परेशान है और प्रधानमंत्री से लेकर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री तक इस महामारी में कई तरह से सहायता पहुंचा रहे हों और गरीबों को गांव में ही काम दिलाने की बात कह रहे हों लेकिन ग्राम पंचायत सचिव व ग्राम प्रधान इस गरीब चौकीदार की एक भी नहीं सुन रहे है। पीड़ित चौकीदार ने वेतन दिलाये जाने की मांग की है। फिलहाल इस प्रकरण पर उच्चाधिकारियों को ध्यान देने की आवश्यकता है और वेतन न देने वाले ग्राम पंचायत सचिव व प्रधान के खिलाफ कार्यवाही किये जाने की भी जरूरत है।








No comments