Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Classic Header

{fbt_classic_header}

Breaking News

latest

सहारनपुर, सन 1962 में भारत चीन के बीच हुए युद्ध में 1 साल चीन की कैद में रहे थे भूतपूर्व सैनिक चौधरी देवी सिंह 1962 के बाद सैनिक का गुस्सा आज चीन की शर्मनाक हरकत के बाद फूट पड़ा

लद्दाख की गलवन घाटी में चीनी सेना की कायराना हरकत की वजह से देश ने अपने 20 जवानों को खो दिया है।पूरे देश में जहा इस समय चीन के प्रति गुस्सा ...






लद्दाख की गलवन घाटी में चीनी सेना की कायराना हरकत की वजह से देश ने अपने 20 जवानों को खो दिया है।पूरे देश में जहा इस समय चीन के प्रति गुस्सा व आक्रोश है।वही जनपद सहारनपुर की नकुड विधानसभा के गांव मोहद्दीनपुर में 84 वर्षीय भूतपूर्व सैनिक चौधरी देवी सिंह का भी चीन की कायराना हरकत की वजह से खून खौल उठा है।उन्होंने भारत सरकार से चीन के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने की मांग की है।भूतपूर्व सैनिक चौधरी देवी सिंह ने अपने 15 वर्ष के सैनिक कार्यकाल में सन 1962 में चीन के खिलाफ युद्ध लड़ा।सन 1965 में पाकिस्तान के खिलाफ युद्ध लड़ा और सन 1971-72 में पाकिस्तान के खिलाफ युद्ध लड़ा।सन 1962 में चीन के खिलाफ उन्होंने नेफा क्षेत्र में युद्ध लड़ा।2 महीने उन्होंने लगातार युद्ध लड़ा।इसके बाद चीनी सेना ने उनकी रेजीमेंट के लोगों को घेर लिया और उन्हें कैद कर लिया।चीनी सेना ने उस समय 150 लोगों की उनकी टुकड़ी को कैद कर लिया था।चौधरी देवी सिंह उस समय 4 राजपूत रेजीमेंट में सैनिक के रूप में अपनी सेवाएं दे रहे थे।उन्होंने बताया कि चीनी सैनिक उन्हें पैदल ही लेकर पहाड़ी रास्तों से गए थे।11 दिन तक उन्हें बिना अन्न के ही रहना पड़ा था।3 दिन बाद उन्हें पानी नसीब हुआ था।उन्होंने बताया कि वह 1 साल तक चीन की कैद में रहे थे।उन्होंने बताया कि चीन की कैद में रहते हुए उन्होंने अपने देश लौटने की उम्मीद छोड़ दी थी लेकिन 1 साल के बाद उन्हें और उनके सब साथियों को रिहा कर दिया गया।भारत आने पर देशवासियों ने उनका खूब स्वागत किया था।उन्होंने यह भी बताया कि जब वह अपने गांव लौटे थे तो उन्हें देखकर सब लोग दंग रह गए थे क्योंकि 1 साल से लापता होने की वजह से उन्हें मृत घोषित कर दिया गया था और गांव में उनकी तेरहवीं(रस्मपगडी)भी कर दी गई थी। उन्होंने बताया कि चीन धोखेबाज देश है।उसने सन 1962 में भी भारत के साथ बहुत बड़ा धोखा किया था। उन्होंने बताया कि वह सन 1957 में भर्ती हुए थे और सन 1972 में रिटायर हो गए थे।


 चौधरी देवी सिंह भूतपूर्व सैनिक


बय रिपोर्ट-शमीम अहमद सहारनपुर




No comments