Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Classic Header

{fbt_classic_header}

Breaking News

latest

अमेठी में खाकी का खौफ खत्म।

 दिलीप यादव  अमेठी जिले में खाकी का खौफ बिल्कुल खत्म हो गया है। आए दिन लगातार एक के बाद एक वारदातें हो रही हैं ।क्योंकि पुलिस का ही...





 दिलीप यादव

 अमेठी जिले में खाकी का खौफ बिल्कुल खत्म हो गया है। आए दिन लगातार एक के बाद एक वारदातें हो रही हैं ।क्योंकि पुलिस का ही एक मात्र डर होता है जिसके चलते लोग अपराध करने से भयभीत होते हैं । किंतु अमेठी में लोगों के बीच वह डर भी नहीं रहा। जिसका पूरा श्रेय आला अधिकारियों को जाता है। ऐसा ही एक मामला आज अमेठी जनपद के जगदीशपुर कोतवाली क्षेत्र अंतर्गत पूरे चोपई मिश्र कचनांव गांव में देखने को मिला। जहां पर मामूली सी बात को लेकर कहासुनी गहमागहमी में बदल गई और बात तो यहां तक पहुंच गई कि एक पक्ष ने दूसरे पक्ष के ऊपर ताबड़तोड़ फायरिंग कर दिया जिसके चलते एक युवक की मौके पर ही मौत हो गई दो लोगों को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र जगदीशपुर से ट्रामा सेंटर लखनऊ रेफर किया गया जबकि एक का सीएससी में ही इलाज चल रहा है। आनन-फानन में सूचना पर मौके पर पहुंची पुलिस ने पीड़ित से तहरीर लेकर मुकदमा पंजीकृत करते हुए कार्यवाही शुरु कर दी घटना का पता चलने के डेढ़ घंटे बाद सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र जगदीशपुर पहुंची पुलिस अधीक्षक डॉक्टर ख्याति गर्ग ने जानकारी लेते हुए निरीक्षण किया । वहीं पर जब मीडिया कर्मियों के द्वारा घटना के विषय में पुलिस अधीक्षक महोदय से जानने की कोशिश की गई तो उनका कहना था की घटनास्थल पर देखने के बाद ही मैं कुछ कह सकती हूं।

 विवाद के विषय में मृतक के परिजन बृजेश मिश्रा ने बताया कि आज कोठे की जांच हो रही थी जो हमारे चाचा वीरेंद्र मिश्रा है वह कोटेदार भी हैं मौके पर कोटा सस्पेंड था उसी की जांच के लिए कुछ अधिकारी आए हुए थे जब अधिकारी आए जांच हुई जांच होने के बाद जब अधिकारी चले गए तो हम लोग अपने दरवाजे पर बैठे थे तभी परशुराम मिश्रा अंजनी मिश्रा सुनील मिश्रा तथा धर्मेंद्र मिश्रा आदि लोगों का घर हमारे भाई के घर के बगल में ही है वह लोग घात लगाकर पहले से बैठे हुए थे जब तक हम लोग कुछ समझ पाते तब तक वह ताबड़तोड़ अपने लाइसेंसी 12 बोर की बंदूक से तथा कुछ अवैध असलहा से फायरिंग करना शुरू कर दिए जिसमें हमारा चचेरा भाई उमेश जिसमें हमारा चचेरा भाई उमेश मिश्रा को जगदीशपुर अस्पताल में मृत घोषित कर दिया गया और हमारे चाचा राजेंद्र मिश्रा को जगदीशपुर सरकारी अस्पताल से ट्रामा सेंटर लखनऊ रेफर कर दिया गया है और हमारे भाई कमलेश मिश्रा को भी ट्रामा सेंटर लखनऊ रेफर कर दिया गया है जांच टीम में अधिकारी आए थे मौके पर जांच हुई उसके बाद अधिकारी चले गए हम लोग भी अपने घर के बाहर बैठे हुए थे लेकिन यह लोग पहले से ही घात लगाए बैठे थे इन लोगों के द्वारा ताबड़तोड़ फायरिंग शुरू कर दी गई।




No comments