Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Classic Header

{fbt_classic_header}

Breaking News

latest

यदुवंशियों की नजर टिकी सदर पर

जब जब  बात आती है विधानसभा की और विधानसभा में भी समाजवादी पार्टी की जब नाम आती है तो चट्टी चौराहों से होते हुए गांव की गलियों तक गुलजार ...


जब जब  बात आती है विधानसभा की और विधानसभा में भी समाजवादी पार्टी की जब नाम आती है तो चट्टी चौराहों से होते हुए गांव की गलियों तक गुलजार हो जाती है समाजवाद के चुनाव को लेकर और समाजवाद के नारों को लेकर तो क्यों पीछे  रहे यदुवंशी  समाज  विधानसभा में कुछ साल का समय है फिर भी यदुवंशियों में उनके टिकट के भविष्य को लेकर चरमराहट शुरू हो चुकी है इसी कड़ी में बात करते हैं समाजवादी पार्टी के लोहिया वाहिनी के राष्ट्रीय सचिव अरविंद यादव से जब उन्होंने इस lock-down में बिना शोर-शराबा कीए लोगों तक मुकम्मल व्यवस्थाएं पहुंचा रहे थे जब हमारी टीम को पता चला तो राष्ट्रीय सचिव अरविंद यादव से कुछ राजनीतिक मुद्दों पर चर्चा हुई  अरविंद यादव बताते हैं कि सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव के संपर्क में 2010 में आए जिसके बाद उन्हें लोहिया वाहिनी का जिला अध्यक्ष बनाया गया  2012 तक अखिलेश यादव कि उन पर कृपा दृष्टि बनी रही काफी विवाद के बाद भी जिला अध्यक्ष बनने में सफल रहे
उन्होंने अपने राजनीतिक की धमक तभी पूरे जिला में दे दी थी जब अखिलेश यादव उनके घर पहुंचे थे तथा उनके साथ में क्रांति रथ में पूरे 6 महीने तक संघर्ष करते देखे गए उसके बाद उन्हें लोहिया वाहिनी के राष्ट्रीय सचिव पद पर मनोनीत कर सुशोभित किया गया फिर उन्हें लोकसभा सीतापुर का प्रभारी बनाया गया फिर उन्हें 2015 में बिहार का भभुआ  विधानसभा का प्रभारी बनाया गया सोनभद्र प्रभारी बनाया गया  फिर उन्हें 2019 लोकसभा चुनाव के लिए सकलडीहा का प्रभारी बनाया गया अरविंद यादव समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव के संपर्क में आने के बाद अपने  इंजीनियरिंग की पढ़ाई को छोड़ समाजवाद की पढ़ाई पढ़ने में लग गए  जब सपा की सरकार बनी तो अरविंद यादव को दो दो सुरक्षाकर्मियों का उपहार भी दिया गया बतौर मुख्यमंत्री होते हुए भी उन्होंने  सार्वजनिक सभाओं में अरविंद यादव का नाम लेकर मंच तक  बुलाया  इसी कड़ी में जब मीडिया ने राष्ट्रीय सचिव से आने वाले विधानसभा चुनाव लड़ने के बारे में पूछा तो उन्होंने हंसते हुए और मीडिया के बातो को गोल-गोल घुमाते हुए कहा कि  स्वयं को दल का उम्मीदवार घोषित करना यह दल का मजाक उड़ाना होगा उन्होंने बताया कि राष्ट्रीय अध्यक्ष जी ने समय-समय पर हमें जिम्मेदारियों से नवाजा है अगर वह सदर की जिम्मेदारी के लायक  समझेंगे तो वह मुझ पर भरोसा अवश्य करेंगे और चुनाव राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री अखिलेश यादव जी को लडाना है अगर वह कहेंगे तो चुनाव जरूर लडुंगा




No comments