Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Classic Header

{fbt_classic_header}

Breaking News

latest

शाहजहाँपुर में भाजपा विधायक ने अपनीं सरकार और पुलिस के खिलाफ खोला मोर्चा ।

एसपी ऑफिस में सत्ता धारी विधायक का एसपी ऑफिस में हाई बोल्टेज ड्रामा सत्ता पक्ष के विधायक ने अपनीं ही सरकार और पुलिस पर गंभीर आरोप लगाते ...


एसपी ऑफिस में सत्ता धारी विधायक का एसपी ऑफिस में हाई बोल्टेज ड्रामा सत्ता पक्ष के विधायक ने अपनीं ही सरकार और पुलिस पर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा कि बिकरु कांड बनानें पर तुली हुई शाहजहाँपुर पुलिस है।

उत्तर प्रदेश सरकार में ही नहीं बल्कि देश के सभी राज्यों में वर्दीधारी पुलिस सत्ता धारी दल की डुगडुगी बजाने के लिए दशकों से मशहूर रही है। वह कोई राज्य हो लेकिन जब से बिकरु कांड क्या हुआ यूपी पुलिस इन दिनों बिकरु कांड से कुछ अलग हटकर करने के लिए चर्चा में है। जहाँ यूपी पुलिस पर  बेकसूर लोगों को जेल भेजने व उल्टा पीड़ितों पर ही अत्याचार और प्रताड़ना के आरोप लगातार लग रहे हैं। कि वैसे भी इन दिनों सत्ताधारी दल के विधायकों और सांसदों की सरकार में नहीं सुनी जा रही है। यह पीड़ा किसी एक विधायक की नहीं है। वल्कि यूपी के ज्यादातर विधायक इसी तरह कई समस्याओं से अपनीं सरकार और पुलिस से परेशान हैं।भाजपा विधायक ने निगोही पुलिस के खिलाफ खोला मोर्चा,थाने में बेकसूर युवको को चोरी के संदेह में पुलिस ने बेहरमी से पिटाई का मामला प्रकाश में आया है। जहाँ पुलिस पिटाई से जख्मी युवक व उसके परिजन गुरुवार को निगोही भाजपा विधायक के साथ पुलिस अधीक्षक कार्यालय पहुंचे जहां भाजपा विधायक ने निगोही पुलिस व एसपी सिटी पर कई गंभीर आरोप लगाए है।जहाँ गांव मोहरतला निवासी अशोक ने बताया कि विगत दिनों गांव के ही विश्राम का मोबाइल फोन चोरी हो गया था 21 जुलाई की रात मोबाइल चोरी के संदेह में पुलिस ने उसके यहां व मनोज तथा  सत्यवीर यहां दबिश दी और सभी को पकड़ कर निगोही कोतवाली ले आई। आरोप है की थानाध्यक्ष राजेश कुमार, उपमनिरिक्षक विश्नोई व अन्य पुलिस कर्मियों ने पूछतांछ के बहाने तीनो की बड़ी बेरहमी से पिटाई की। जिसमे वो लोग गंभीर रूप से जख्मी हो गए। जबकि वो लोग बेकसूर थे। मामले में भाजपा विधायक के हस्तकक्षेप करने व पुलिस अधीक्षक के कई बार कहने के बाद निगोही पुलिस ने सभी को छोड़ दिया ।


 ताजा मामला उत्तर प्रदेश के जनपद  शाहजहाँपुर की तिलहर विधान सभा के भाजपा विधायक रोशन लाल वर्मा का है। जहाँ निगोही थाना क्षेत्र अंतर्गत गॉव मोहरकला का है। निवासी अशोक , मनोज व सत्यवीर को निगोही थाने की पुलिस 21 जुलाई को रात करीब 1 बजे घर से उठा लायी आरोप था मोबाइल चोरी का पूछताछ पर इन्होंने बताया कि इन्होंने कोई मोबाइल नही चुराया इतना सुनकर हल्का के दरोगा जी व थाना अध्यक्ष आग बबूला हो गए और कहने लगे तेरे पास जो मोबाइल है। वो चोरी का है। लेकिन जब इन लोगो ने अपने मोबाइल की रसीद दिखा दी फिर क्या शुरू हुआ पुलिसिया तांडव और पुलिस ने तीनों को नंगा करके जी भर के मारा और मोबाइल चोरी कबूलने का दबाब बनाने लगे जब पुलिस के इस कृत्य की खबर परिजनों को लगी तो परिजनों ने विधायक जी से पूरी बात बताई विधायक जी के काफी जद्दो जहद के बाद निगोही थाने की पुलिस ने तीनों निर्दोषों को छोड़ दिया आज  विधायक ने पुलिस अधीक्षक कार्यालय पर जमकर हंगामा काटा विधायक का हाई बोल्टेज ड्रामा देखकर पुलिस अधीक्षक कार्यालय में भीड़ एकत्र हो गयी विधायक ने आरोप लगाया कि मुख्य मंत्री के आदेश पर निर्दोषों को जेल भेजा जा रहा है। ऐसा पुलिस ने खुद विधायक जी से कहा फिलहाल मामले की गंभीरता को देखते हुए अपर पुलिस अधीक्षक नगर  संजय कुमार ने करीब एक घंटे विधायक से गोपनीय बात की उसके बाद अपर पुलिस अधीक्षक नगर संजय कुमार ने आश्वासन दिया कि दोषी पुलिस कर्मियों पर जांच उपरान्त कार्यवाही करेंगे ।



  वहीं एसपी सिटी संजय कुमार ने खुद पर लगे आरोपो पर बोलने से इनकार करते हुए कहा की भाजपा विधायक द्वारा शिकायत की गई है। मामले की जांच होगी और लापरवाही बरतने वाले दोषी पुलिस कर्मियों के खिलाफ कार्यवाही की जाएगी।





No comments