Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Classic Header

{fbt_classic_header}

Breaking News

latest

प्रधान द्वारा किया गया गांव वालों के लिए रास्ता बंद

उदी  -उदी ब्लॉक बढ़पुरा के ग्राम पंचायत में मिहोली में गांव का पानी प्रधान द्वारा रोके जाने पर ग्रामीणों को  परेशानी  घर पहुंचने में हु...



उदी  -उदी ब्लॉक बढ़पुरा के ग्राम पंचायत में मिहोली में गांव का पानी प्रधान द्वारा रोके जाने पर ग्रामीणों को  परेशानी  घर पहुंचने में हुई ।गांव के बुजुर्ग केशव सिंह ने बताया ग्राम पंचायत मिहोली में कुल 6 मजरा हैं जिसमें की कसौआ ,गढ़िया मुल्लू सिंह ,गढ़िया गुलाब की, मढैया की मिहोली धुबिया जिसमें की गढियां गुलाब सिंह ग्राम पंचायत प्रधान गनेश सिंह भदोरिया का पैतृक गांव हैं इसी के चलते ग्राम पंचायत में मिहोली के साथ हमेशा सौतेला व्यवहार किया जाता है हमारे गांव में श्मशान घाट जाने की रास्ता भी नहीं बनाई गई है जबकि अन्य गांव में श्मशान घाट कि रास्ता बनी है  इसी के चलते हमारे गांव में बारात घर काफी पुराना बना हुआ था। जिसके निर्माण के लिए शासन द्वारा बजट पास किया गया था, लेकिन बारात घर भी प्रधान जी अपने गांव गढ़िया गुलाब सिंह में बनवा रहे हैं अपने गांव और इसी के साथ गांव की गलियां भी काफी नीचे है जिसके कारण गांव की वृद्ध महिलाएं रास्ते से नहीं निकल पा रही हैं गलियों में पानी भरा रहता है इसी की प्रधान से शिकायत करने पर प्रधान जी ने गांव का मुख्य मार्ग जिसमे सभी लोग निकला करते थे मार्ग के बगल में पानी का खार चलता था जिसमें पूरे गांव का पानी निकल कर बिहड में चला जाता था प्रधान जी ने खार को जेसीबी से बंद करा दिया उस जगह शासन द्वारा दिया गया बकरी सेट बन रहे हैं जिसकी वजह से पानी निकलने का रास्ता बंद होने से पानी नहीं निकल पा रहा। गांव वालों मे मोनू सिंह, मान सिंह, गुड्डू सिंह ,राज बहादुर सिंह, वीरपाल सिंह ,छोटेलाल हरबिलास ,विजय सिंह, सूरत राम, कप्तान सिंह ,केसर सिंह इत्यादि शामिल थे। इसमें मोनू सिंह ने बताया कि हमारे यहां में मिहोली गांव में प्राचीन शिब मंदिर के बगल में जो रास्ता है उसमे नीचे मंदिर के बगल से 10 फीट गहरी सुरंग बन गई है जिसकी शिकायत कई बार ग्राम प्रधान से की गई है लेकिन आज तक इसकी भी कोई सुनवाई नहीं है।
मंदिर के बगल का रास्ता आम रास्ता है कभी भी कोई बड़ा हादसा हो सकता है ग्राम प्रधान गनेश भदोरिया से बात करने पर उन्होंने बताया मैं रास्ते के बगल में कोई खार नहीं है। जो गांव वाले खार बता रहे हैं वह मेरी जमीन है जिसे मैंने जेसीबी द्वारा सही करवा कर वी डि यो बढ़पुरा प्रशांत कुमार को बताकर बकरी सेट बनवा रहा हूं वही बारात घर का पूछने पर प्रधान जी ने बताया बारात घर की जगह तो ग्राम पंचायत की है लेकिन इसका निर्माण पहले गांव वालों ने आपस में चंदा लेकर बनवाया था जो कि अब खंडर हो गया है नए बारात घर के लिए जगह कम है इसलिए उसे गढ़िया गुलाब सिंह में बनवाया जा रहा है और गलियों में पानी भरे होने का कोई संतोषजनक उत्तर नहीं दे पाए गांव वालों का कहना है कि गांव वालों के साथ सौतेला व्यवहार किया जा है




No comments