Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Classic Header

{fbt_classic_header}

Breaking News

latest

शाहजहाँपुर में पकड़ा गया फर्जी विधानसभा अध्यक्ष।

उत्तर प्रदेश के जनपद शाहजहाँपुर में आज अधिकारी उस समय शक्ते में आ गए जब उन्हे एक विधानसभा अध्यक्ष ह्र्दय नारायण दीक्षित के फर्जी नाम वा...



उत्तर प्रदेश के जनपद शाहजहाँपुर में आज अधिकारी उस समय शक्ते में आ गए जब उन्हे एक विधानसभा अध्यक्ष ह्र्दय नारायण दीक्षित के फर्जी नाम वाला युवक पकड़े जाने की सूचना मिली आपको बताते चलें कि
पुलिस अधीक्षक शाहजहाँपुर से विधान सभा अध्यक्ष बता कर फोन पर रोब झाड़ने वाला फ़र्ज़ी विधानसभा अध्यक्ष गिरफ्तार कर लिया गया है। फर्जी विधानसभा अध्यक्ष का नाम गौरव मिश्रा बताया जा रहा है। जो विधान सभा अध्यक्ष ह्रदय नारायण दीक्षित बनकर पुलिस अधीक्षक पर जम कर रौब झाड़ रहा था जहाँ आज एस0 ओ0 जी0 टीम ने पुवायां क्षेत्र से उक्त फर्जी विधनसभा अध्यक्ष को गिरफ्तार कर लिया है।

 शाहजहाँपुर एसपी एस.आनन्द ने बताया कि 10 जुलाई को उनके सीयूजी नम्बर पर एक युवक का फोन आया उसने अपने आपको विधानसभा अध्यक्ष ह्रदय नारायण दीक्षित बताकर बात की और किसी और एक व्यक्ति को भेजने की बात कहते हुए कहा कि हम अपना आदमी भेज रहे हैं। उक्त युवक रौब गाँठते हुए एसपी एस आनंद ने बताया कि उन्हें सन्देह हुआ कि इतने बड़े राजनीतिक व्यक्ति इस तरह कैसे बात कर सकता है। एसपी एस आनंद के सन्देह के आधार पर उन्होंने उक्त युवक का नम्बर सर्विलांस पर लगबा दिया जहाँ उक्त युवक पुवायां तहसील का गौरव मिश्रा नाम का निकला जहाँ एसओजी टीम ने उसे गिरफ्तार पुवायां से गिरफ्तार कर लिया है। तो वही एसपी एस आनंद ने बताया है। कि उक्त युवक जनपद के कई अधिकारियों को फोन करके रौब गांठता था और अपनें आपको बड़ा नेता बताकर जिले मे एसडीएम और थाना प्रभारियों को फोन पर इसी तरह से हड़काकर काम कराता था जहाँ आज उक्त फर्जी विधानसभा अध्यक्ष गौरव मिश्रा को पुलिस ने आज गिरफ्तार कर विकास भवन में डीएम एसपी के सामने पेश कराया जहां पर एसपी एस आनंद के सामनें उक्त युवक से कान पकड़कर उठक बैठक लगाकर माफी मांग रहा है। वहीं एसपी एस आनंद ऐसे 420/युवक पर विधिक कार्रवाई करने की योजना बना रही है।



 अभी 28/जून को इसी तरहं यूपी के गौतम बुद्ध नगर के थाना एक्स प्रेस वे एरिया में एक फर्जी आईपीएस अधिकारी और उसके फर्जी जन संपर्क अधिकारी (पीआरओ) को गिरफ्तार किया गया था जहाँ फर्जी आई पीएस अधिकारी की पहचान आदित्य दीक्षित के रूप में हुई है। आरोपी आदित्य के पिता का नाम देवेंद्र दीक्षित बताया गया है। वह यूपी के हाथरस जिले के सिकंदराराऊ थाना क्षेत्र का रहने वाला है। इस पर आरोप था कि आदित्य दीक्षित ने खुद को गृह मंत्रालय में साइबर अपराध डिपार्टमेंट का हेड बता कर एक होटल में मुफ्त में खाना खाया और होटल स्टाफ के साथ अभ्रदता से बात की वहीं आरोपी आदित्य दीक्षित के साथ अखिलेश यादव नाम के एक शख्स की भी गिरफ्तारी हुई है। अखिलेश ने खुद को फर्जी आईपीएस आदित्य दीक्षित का पीआरओ बताया अखिलेश के पिता का नाम नरेश सिंह यादव है। और वह इटावा के ग्राम शिवपुर थाना किशनी इलाके का रहने वाला है।




No comments