Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Classic Header

{fbt_classic_header}

Breaking News

latest

पलिया चीनी मिल प्रबन्धन कर रहा शासन के आदेशों की अवहेलना किसानों में रोष

फारुख हुसैन लखीमपुर खीरी जहां एक और हमारी सरकार किसानों के हित के बड़े-बड़े दावे करती नजर आ रही है लेकिन अगर जमीनी स्तर की बात की ज...




फारुख हुसैन
लखीमपुर खीरी

जहां एक और हमारी सरकार किसानों के हित के बड़े-बड़े दावे करती नजर आ रही है लेकिन अगर जमीनी स्तर की बात की जाए तो यह दावे केवल कागजों तक ही सीमित रह गए हैं, गौरतलब है जहां सरकार चीनी मिलों पर शिकंजा कसने की बात कर रही है और बकाया गन्ना भुगतान देने का भी आदेश जारी किया है,यही नहीं अगर कोई चीनी मिल गन्ने का भुगतान ना दे पाए तो किसान को भुगतान के रूप में चीनी देने का आदेश दिया है लेकिन इसके बावजूद कई गन्ना मिल इस आदेश की अवहेलना करते दिखाई दे रहे हैं,जिसके चलते किसानों में भारी आक्रोश भी देखने को मिल रहा है ।

दरअसल लखीमपुर खीरी जिले के तहसील पलिया में भी बजाज चीनी मिल के द्वारा किसानों को चीनी ना देने पर किसानों में जमकर आक्रोश आ गया जिसके चलते वह आक्रोशित होकर बुधवार को मिल गेट पर जोरदार प्रदर्शन कर मिल प्रबंधन के खिलाफ नारेबाजी करते हुए पलिया तहसील पहुंचकर अपनी समस्या से संबंधित एक शिकायत पत्र एसडीएम पलिया पूजा यादव को पलिया तहसीलदार आशीष कुमार सिंह के माध्यम से सौंपा है और उनसे मिल मिल प्रबंधन के खिलाफ उचित कार्यवाही कर चीनी दिलवाने की गुहार लगाई है ।
शिकायत पत्र में बताया गया है कि प्रदेश सरकार द्वारा जारी शासनादेश के अनुसार प्रदेश की सभी चिनी मिलों द्वारा प्रत्येक गन्ना किसान को प्रति माह एक कुन्तल चीनी माह अप्रैल से माह जून तक लगातार तीन महीने उपलब्ध कराई जाएगी। इसके बाद भी जारी शासनादेश का पलिया की बजाज चीनी मिल प्रबन्धन ने पालन नहीं किया। नतीजतन पलिया क्षेत्र के गन्ना किसानों को भारी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। मिल प्रबंधन के इस रवैये से क्षेत्रीय गन्ना किसान काफी परेशान है।
पूरे लाॅकडाउन काल से जूझ चुके किसानों को अब अपनी आगामी फसल तैयार करना भी मुश्किल हो रहा है। जिसके चलते शिकायत पत्र सौंपकर तत्काल चीनी उपलब्ध कराने की मांग की है।

उधर जब चीनी मिल के डिप्टी केन मैनेजर केपी सिंह से बातचीत की गई तो उन्होंने शासनादेश की अवहेलना करना स्वीकार किया है। उन्होंने कहा कि माह मई और जून में किसानों को चीनी दी गयी है और अब बकाया मां की चीनी भी किसानों को दे दी जाएगी




No comments