Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Classic Header

{fbt_classic_header}

Breaking News

latest

लॉक-डाउन और कोरोना काल महामारी में कैसे करें श्रद्धालु जलाभिषेक?

लॉकडाउन और कोरोना कॉल का असर इस बार सावन माह मे मंदिरों पर भी देखने को मिला हर साल की तरह इस बार मंदिरों पर नहीं लगी भक्तों की भीड़। ...





लॉकडाउन और कोरोना कॉल का असर इस बार सावन माह मे मंदिरों पर भी देखने को मिला हर साल की तरह इस बार मंदिरों पर नहीं लगी भक्तों की भीड़। आपको बता दें की सावन के पवित्र महीने में आज शिवरात्रि पर रविवार को भगवान आशुतोष का जलाभिषेक हो रहा है। कोरोना के चलते मंदिरों में भीड़ एकत्र नहीं होने दी जा रही है। जिसके लिए शहर के प्रमुख मंदिरों ने पहले से ही तैयारी कर ली है।मन्दिरो में सुबह से ही जलाभिषेक शुरू हो गया है।बताया जा रहा है की श्रावण शिवरात्रि व्रत श्रवण मास की चतुर्दशी को शिवरात्रि का व्रत किया जाता है।मान्यता है कि इसी दिन कावड़ी भी हरिद्वार से जल लाकर भगवान शिव को जल चढ़ाते हैं परंतु इस बार करोना कॉल और लाॅक-डाउन होने की वजह से जल चढ़ाने में भक्तों को बहुत दिक्कतें हो रही हैं।
और इस बार कोरोना संक्रमण के चलते शिवभक्तों में हर साल की खुशी बजाये मायूसी देखने को मिली।मन्दिरों में इस बार सोशल डिस्टेंस के साथ जलभिषेक कराया गया, भूतेश्वर मन्दिर कमेटी की ओर से श्रद्धालुओं का मन्दिर के द्वार पर तापमान जांचा गया, और भक्तों को दूर से ही जल चढ़ाने की व्यवस्था की गई है। शिवालय के नजदीक किसी को नहीं जाने दिया जा रहा था, दूर से ही चेहरे पर मास्क लगाकर भक्तजन अपने भोले बाबा से कोरोना से मुक्ति की प्रार्थना करते नजर आये। भूतेश्वर मन्दिर प्रबंध कमेटी की व्यवस्थायें चाक चौबंद रही। सभी शिवभक्तों को बारी बारी से शिवालय में जाने का मौका दिया जा रहा था। इसी के साथ जनपद के सभी मन्दिरों मे श्रद्धाभाव से शिवरात्रि का पर्व मनाया जा रहा है। और वही बागेश्वर मन्दिर में भी शिवभक्तों की संख्या काफी थी।कमेटी की ओर से श्रद्धालुओं का मन्दिर के द्वार पर तापमान जांचा गया, और भक्तों को दूर से ही जल चढ़ाने की व्यवस्था की गई थी। श्री शिव धाम महादेव मंदिर में भी
कमेटी की ओर से श्रद्धालुओं का मन्दिर के द्वार पर तापमान जांचा गया, और भक्तों को दूर से ही जल चढ़ाने की व्यवस्था की गई थी?




ब्यूरो रिपोर्ट-शमीम अहमद सहारनपुर



No comments