Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Classic Header

{fbt_classic_header}

Breaking News

latest

इस संक्रमित बीमारी से लड़ने के लिए तुलसी बहुत ज्यादा कारगर साबित हो रही है।

शामली- आज जब सम्पूर्ण विश्व कोरोना जैसी भयंकर महामारी से ग्रस्त है और यह एक संक्रमित बीमारी है जो एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में आसानी से फ...




शामली- आज जब सम्पूर्ण विश्व कोरोना जैसी भयंकर महामारी से ग्रस्त है और यह एक संक्रमित बीमारी है जो एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में आसानी से फैल जाती है। इस संक्रमित बीमारी से लड़ने के लिए तुलसी बहुत ज्यादा कारगर साबित हो रही है। भारत के सभी वैज्ञानिकों व आयुर्वेदाचार्यो ने भी इस संक्रमण से लड़ने में, मानव की रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने के लिए तुलसी का नियमित उपयोग करने की सलाह दी है। तुलसी के पौधे से घर की नकारात्मक ऊर्जा भी नट होती है और जिस घर में तुलसी की प्रतिदिन पूजा-अर्चना होती है उस घर में सुख-समृद्धि हमेशा के लिए निवास करती है। उक्त उद्गार श्रीराम लखन सेवा समिति (रजि0) शामली द्वारा आयोजित तुलसी पौधारोपण कार्यक्रम के शुभारम्भ के अवसर पर बतौर मुख्य अतिथि श्री अरविन्द संगल निवर्तमान चेयरमैन, नगर पालिका परिद् शामली द्वारा व्यक्त किये।


उन्होंने बताया कि हिन्दू धर्म में तुलसी के पौधे का बहुत महत्व है। तुलसी के पौधे को मॉ लक्ष्मी का प्रतीक भी माना जाता है। हिन्दू धर्म में तुलसी के पौधे से कई आध्यात्मिक बाते भी जुडी हुई है, जैसे कि भगवान विणु जी को तुलसी अत्यधिक प्रिय है और उनकी पूजा तुलसी के पत्तों के बिना अधूरी मानी जाती है। भगवान विणु के भोग में और सत्यनारायण भगवान की कथा के प्रसाद में तुलसी के पत्ते अवश्य रखने चाहिए, इससे प्रसाद पूरा होता है। भारतर्वा में तुलसी का पौधा हर घर में सदियों से लगता आ रहा है। इतना ही नहीं आयुर्वेद और विज्ञान में भी तुलसी के पौधे का बहुत महत्व है। पुराणों में बताया गया है कि तुलसी का पौधा घर के आंगन में लगाने से और देखभाल करने से इंसान के पहले के जन्म के सारे पाप नट हो जाते है। नियमित रूप से तुलसी के पत्ते को खाने से इंसान के अन्दर ऊर्जा का प्रवाह होता है व इंसान की उम्र भी बढ़ती है। ऐटीबैक्टीरियल, एंटीफंगल और एंटीबायोटिक गुण तुलसी के पौधे में पाए जाते है।
इस अवसर पर संस्था के अध्यक्ष अशोक गोयल ने बताया कि संस्था द्वारा तुलसी पौधारोपण कार्यक्रम चलाया जा रहा है जो कि आज से शुरू होकर एक सप्ताह तक चलेगा। पौधारोपण कार्यक्रम में अर्न्तगत श्रीराम लखन सेवा समिति शामली के संरक्षक, पदाधिकारी व प्रत्येक सदस्य के घर पर तुलसी का पौधा गमले में रोपित कराकर भेजने की व्यवस्था की गयी है। संस्था द्वारा 151 तुलसी के गमले तैयार कराये गये है और वृक्षारोपण के साथ-साथ करीब 151 परिवारों को तुलसी का पौधा पहुंचाया जायेगा जिसका शुभारम्भ आज संस्था के मुख्य संरक्षक श्री अरविन्द संगल एवं संरक्षक श्री यशपाल पंवार व श्री गिरधारी लाल नारंग द्वारा किया गया है। तुलसी पौधारोपण कार्यक्रम का संयोजन सचिन मित्तल व संजय ऐरन द्वारा किया गया। संस्था के द्वारा शहर के गणमान्य व्यक्तियों के घर भी तुलसी के पौधे भेजने की व्यवस्था की गयी है। 
इस अवसर पर संस्था अध्यक्ष अशोक गोयल, सचिव सक्षम संगल, कोाध्यक्ष शिव कुमार मित्तल, संस्थापक सदस्य राज कुमार तायल व अवनीश संगल (सोनू) एवं सदस्य गिरीश तायल, अंकित गुप्ता, मनोज रसवंत, प्रेक मित्तल (मीनू भगत जी स्वीट्स), खुशीराम अरोरा, राजकुमार बालियान आदि उपस्थित रहे। 




No comments