Skip to main content

सरकार और जनप्रतिनिधियों की उदासीनता के चलते टूटा हुआ पुल लाखों लोगों की मुसीबत का बना सबब।





PLACE - AMETHI

REPORT - DILEEP YADAV

आइए हम बात करते हैं वीवीआइपी जनपद अमेठी की जो कभी नेहरू गांधी खानदान की विरासत के साथ कांग्रेस के गढ़ के रूप में जाना जाता था । आज यहां पर सांसद के रूप में भारत सरकार की केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी प्रतिनिधित्व कर रही है । लेकिन यहां की लाखों की आवाम पिछले डेढ़ वर्षो से आवागमन को लेकर परेशान और हैरान है । किंतु इस बात से किसी को कोई फर्क नहीं पड़ता है। जी हां हम बात कर रहे हैं अमेठी संसदीय एवं तहसील क्षेत्र की जहां के संग्रामपुर ब्लॉक मुख्यालय से से लगभग 500 मीटर की दूरी पर स्थित विशेश्वरगंज-संग्रामपुर-धौराहरा संपर्क मार्ग के नौवें किलोमीटर पर मालती नदी के ऊपर बना पुल पिछले डेढ़ वर्षो से क्षतिग्रस्त हो चुका है । साथ में आपको यह भी बता दें कि इस पुल का निर्माण सन 1983 में  तत्कालीन अमेठी सांसद एवँ पूर्व प्रधानमंत्री रहे स्वर्गीय राजीव गांधी के द्वारा जन सुविधा को दृष्टिगत रखते हुए बनवाया गया था । शायद इसी कारण से अभी तक इस छतिग्रस्त पुल का पुननिर्माण रूका हुआ है । क्योंकि अन्य कोई ठोस कारण समझ में नहीं आता है। जबकि भारतीय जनता पार्टी की स्थानीय विधायक रानी गरिमा सिंह ने इस पुल के पुनः बनाये जाने के लिए पिछले वित्तीय वर्ष में ही 2 करोड़ 2लाख 19 हज़ार रुपये का प्रस्ताव भेजा है किंतु आज तक शासन की स्वीकृति नहीं मिल पाई। विगत डेढ़ वर्ष पहले पुल क्षतिग्रस्त होने के तत्काल बाद लोक निर्माण विभाग के द्वारा आंशिक रूप से मार्ग को अवरुद्ध करते हुए बड़े वाहनों के साथ चार पहिया वाहनों के आवागमन पर भी रोक लगाने का बोर्ड लगा दिया गया। जिसके बाद से आज तक हजारों गांव के लोग लगातार परेशान हैं। क्योंकि इस रास्ते पर सिर्फ साइकिल और बाइक से निकल सकते हैं । किसी भी कीमत पर इस पुल से चार पहिया वाहन लेकर नहीं गुजर सकते हैं। इसमें सबसे बड़ी बात तो यह है कि उनके दूसरी साइड में पड़ने वाले सैकड़ों गांवों को संग्रामपुर में स्थित अपने ब्लॉक, थाना और प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पर आने के लिए 600 मीटर की दूरी को तय करने के लिए 6 किलोमीटर घूमना पड़ता है । ऐसे में बड़ी मुश्किल तो तब होती है जब इमरजेंसी में किसी पेशेंट को लेकर एंबुलेंस इधर से उधर घूमती है । यही नहीं संग्रामपुर में ही अमेठी जिले का सबसे पुराना और पौराणिक मंदिर मां कालिका का धाम कालिकन स्थित है । जहां पर कोरोना काल छोड़कर अन्य समय में प्रत्येक सोमवार को हजारों की भीड़ मां के दर्शन को आती थी। ऐसे में सभी का आवागमन बंद होने के चलते बड़ी ही मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है । जिस पर यहां की रहनुमाई कर रही अमेठी सांसद का ध्यान अभी तक नहीं गया और जनता त्राहिमाम त्राहिमाम कर रही है। जबकि यदि सांसद महोदया चाह लेती तो अभी तक इस पुल का निर्माण हो गया होता और जनता की समस्या खत्म हो गई होती । लेकिन कहीं ना कहीं उनके द्वारा भी यह उपेक्षित किया जा रहा है । जिसके चलते इतना समय बीत जाने के उपरांत आज तक यह स्थिति बनी हुई है।

इस संबंध में जब लोक निर्माण विभाग के अधिशासी अभियंता राकेश कुमार चौधरी से बात की गई तो उन्होंने बताया कि। यह बात विभाग के संज्ञान में है इसका आगणन भी पिछले वित्तीय वर्ष में शासन को भेजा गया था किंतु कोविड-19 हमारी की वजह से हुए लॉकडाउन या किसी कारणवश यह स्वीकृत नहीं हो पाया था। इसलिए पुनः इसका 202 लाख रुपए का आगणन पिछले 6 मई को शासन को भेजा जा चुका है।  जैसे ही शासन से स्वीकृति प्राप्त होती है तत्काल इसका निर्माण कार्य शुरू कर दिया जाएगा । मुझे लगता है कि कोरोना की वजह से थोड़ा सा समय लग रहा है । लेकिन स्वीकृति की लाइन में है जैसे ही स्वीकृति मिल जाएगी काम शुरू हो जाएगा।







Comments

Popular posts from this blog

रिजवान की मौत में आया नया मोड फैमिली डाक्टर अब्दुल हकीम ने बताया

टांडा कोतवाली क्षेत्र में रिजवान की मौत में आया नया मोड फैमिली डाक्टर अब्दुल हकीम ने बताया की 18अप्रैल को रिजवान की फुफी ने बताया की बाइक से गिरने से लगी है चोट जिसकी जिला अस्पताल में इलाज के दौरान  संदिग्ध  परिस्थितियों  में  हुई  22 वर्षीय युवक  के   मृत्यु  के   मामले  में मृतक के  पिता ने पुलिस की पिटाई के कारण मृत्यु होना बता कर पुलिस के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने की तहरीर दिया है। 

मौके का पुलिस अधीक्षक आलोक प्रियदर्शीएवं अपर पुलिस अधीक्षक अवनीश कुमार मिश्र ने निरीक्षण कर  जांचोपरांत कार्यवाही का आश्वासन दिया। पुलिस ने जहाँ पुलिस द्वारा  मारना पीटना बताया गया है ।उस घटनास्थल के आस पास लगे सीसी कैमरे  के फुटेज का निरीक्षण किया ।जिसमें किसी भी प्रकार की मार पीट की घटना दिखाई नही दे रही है । बैरहाल पुलिस हर बिंदुओं पर जांच कर रही है। शव का पोस्टमार्टम होने के बाद सुरक्षा व्यवस्था के बीच शव को मृतक के परिजनों को सौंप दिया गया। जिसके बाद बाद नमाज मगरिब शव को सलार गढ़ कब्रिस्तान में सुपुर्द ए खाक कर दिया गया। प्रशासन द्वारा सुपुर्द ए खाक में सीमित ही लोगों को जाने की अनुमति दी गई। इस मौके …

टाण्डा तहसील के शहर के नेहरू नगर मे 5 साल की बच्ची तृषा की रिपोर्ट आई पाज़िटिव

टाण्डा तहसील के नेहरू नगर में एक 5 साल की बच्ची तृषा पुत्री दिनेश कनौजिया करोना पाज़िटिव आई है। यह लोग मुंबई से चलकर इलाहाबाद आए थे ट्रेन से ।वहां से बस के द्वारा अकबरपुर आए थे। बच्ची को बुखार था प्राथमिक की स्क्रीनिंग में बच्चे को वहीं पर कोरंटाइन करा दिया गया था यह लोग 24 तारीख को यहां पर आए थे मौके पर टाण्डा एसडीएम अभिषेक पाठक व टाण्डा सीओ अमर बहादुर पहुंच कर एरिया को किया सील और लोगों से दूरी बनाने की अपील किया उसके बाद सीलिंग की कार्रवाई प्रारंभ होगी




यूपी के टॉप मोस्ट अपराधियों की बनाई गई लिस्ट

यूपी के टॉप मोस्ट अपराधियों की बनाई गई लिस्ट.

डीजीपी मुख्यालय ने बनाई 33 टॉप मोस्ट अपराधियों की लिस्ट.
लिस्ट में मुख्तार अंसारी, अतीक अहमद, ब्रजेश सिंह समेत 33 अपराधियों के नाम.

उत्तर प्रदेश में फिर शुरू होगा ऑपरेशन  क्लीन