Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Classic Header

{fbt_classic_header}

Breaking News

latest

भगवान राम के जन्म स्थान राम मंदिर से देश के करोड़ों लोगों की आस्था जुड़ी है।

REPORTER-AZAM KHAN भगवान राम के जन्म स्थान राम मंदिर से देश के करोड़ों लोगों की आस्था जुड़ी है। राम मंदिर निर्माण में सहभागिता के ...



REPORTER-AZAM KHAN




भगवान राम के जन्म स्थान राम मंदिर से देश के करोड़ों लोगों की आस्था जुड़ी है। राम मंदिर निर्माण में सहभागिता के जरिए विश्व हिंदू परिषद ने लोगों को जोड़ने की योजना बनाई है। इसके लिए विहिप की ओर से एक वृहद स्तर पर अभियान चलाया जाना है जिसकी योजना बनाई जा रही है।राम मंदिर निर्माण के लिए विहिप की ओर से चलाए जाने वाले जन जागरण अभियान के जरिए 10 करोड़ परिवारों को राम मंदिर निर्माण से जोड़ने की योजना है।इसके लिए विश्व हिंदू परिषद के कार्यकर्ता देश के 4 लाख गांवों में भ्रमण करेंगे. विश्व हिंदू परिषद के प्रवक्ता प्रांतीय प्रवक्ता शरद शर्मा की मानें तो यह कार्यक्रम पूर्व के शिला पूजन कार्यक्रम के पैटर्न पर ही चलाया जाएगा, जिसमें देशभर के 4 लाख गांव के 10 करोड़ परिवारों को जोड़कर राम मंदिर निर्माण के लिए धन एकत्र किया जाएगा. उनका कहना है कि वैश्विक महामारी कोरोना के प्रकोप के शांत होने के बाद इस अभियान की शुरुआत कर दी जाएगी. बीएसपी कार्यकर्ता जन जन तक पहुंचकर न्यूनतम 11 से 101 रुपए और उनकी श्रद्धा के अनुरूप राम मंदिर निर्माण के लिए दान का आग्रह करेंगे. विहिप की ओर से राम मंदिर निर्माण के लिए जो भी दान की राशि एकत्र की जाएगी बाद में उसे श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट को सौंप दिया जाएगा, जिसे भगवान राम के जन्म स्थान पर रामलला के भव्य मंदिर निर्माण में खर्च किया जाएगा।आपको बता दें कि विश्व हिंदू परिषद राम मंदिर के लिए लंबे समय से संघर्ष करता रहा है।श्री राम जन्म भूमि के 70 एकड़ में राम मंदिर निर्माण के साथ अन्य विकास कार्यों के लिए एक बड़ी धनराशि की आवश्यकता है. ऐसे में जब राम मंदिर निर्माण होने जा रहा है तो देश भर में उत्साह का माहौल है। भूमि पूजन कार्यक्रम में देश के कोने-कोने से श्रद्धालु पहुंचना चाहते थे लेकिन वैश्विक महामारी के चलते हुए इस आयोजन में शामिल नहीं हो सके। अब राम मंदिर निर्माण में सहभागिता के जरिए देश के हर कोने से राम मंदिर समर्थकों को भी जोड़ने के उद्देश्य से इस जन जागरण अभियान  की योजना बना रहा है।






No comments