Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Classic Header

{fbt_classic_header}

Breaking News

latest

निर्धन लोगो को नया जीवन

रिपोर्ट:--- वीरेंद्र तोमर बागपत आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना की बदौलत ऐसे निर्धन लोगों को नया जीवन दे रही है जो किस...




रिपोर्ट:--- वीरेंद्र तोमर बागपत




आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना की बदौलत ऐसे निर्धन लोगों को नया जीवन दे रही है जो किसी न किसी गंभीर बीमारी से ग्रस्त थे और अब वह उपचार के बाद स्वस्थ हो गए हैं। कोई घुटने के ऑपरेशन के बाद ठीक तरह से चलने लगा है तो कोई ह्दय की बीमारी से ठीक हो गया है। यानी 23 सितंबर-2018 को शुरू हुई यह योजना गरीबों के लिए नया सवेरा लेकर आई है। जनपद में कितने ही बीमार लोग आयुष्मान योजना का फायदा उठा चुके हैं। ऐसे लोगों के लिए पांच लाख रुपये तक का उपचार मुफ्त में होना सपना ही था, लेकिन इस सपने को आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना ने ही सच कर दिखाया है।

देखिए, आयुष्मान योजना में हम लोग अधिकृत दो साल से हैं। दो साल पहले जब यह योजना शुरू हुई थी तब हमने सबसे पहले योजना को ले लिया था और तब से लगभग 13 सौ या 14 सौ मरीज लाभांवित हो चुके हैं और जिसमें लगभग 250 मरीजों ऑपरेशन हो चुके हैं। इसमें अच्छी बात यह है कि घुटने बदलने जैसे जो मुश्किल ऑपरेशन समझे जाते हैं, 16 मरीजों के घुटने बदले गए हैं। एक मरीज का कूल्हा बदला गया है। इसी तरह से दूसरी बीमारियों के ग्रसित मरीज भी उपचार के बाद स्वस्थ हुए हैं। इस योजना के बारे में एक बात कहना चाहूंगा कि इतनी इस योजना का सरकार की ओर से इतना अच्छा संचालन किया जाता है न तो अस्पतालों को कोई समस्या होती है और न ही मरीजों को। पेपर वर्क बहुत छोटा है। इस योजना में पांच लाख रुपए तक का उपचार निशुल्क होता है। इसमें सभी बीमारियों का उपचार शामिल है।
बाइट-डाक्टर अनिल जैन, जीवन ज्योति आर्थो सेंटर के ऑनर
---

मुझे हार्ट अटैक की परेशानी हुई थी। शरीर पर सोई आई हुई थी। मैंने अस्पताल में डाक्टर से संपर्क किया मेरा कोई पैसा नहीं मिला और मैं अब ठीक हूं। उपचार के बाद हर तरह की सुविधा मिली, हालांकि अभी भी कुछ दवाई खा रहा हूं।
बाइट-विनोद कुमार गुप्ता, बड़ौत लाभार्थी।
--

बहुत ज्यादा दिक्कत थी मेरे पैर में, हाथ से पैर को उठाकर रखना पड़ता था और मुझे मोदी जी का आयुष्मान का और ऑपरेशन हुआ अब पैर में बहुत आराम है। हमारे यहां पर एक पत्र आया था आयुष्मान योजना का, उसके बाद हम यहां पर आए। अब हमें बहुत आराम है। यह योजना अच्छी है

बाइट:---निर्मला, तितरौदा, लाभार्थी।




No comments