Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Classic Header

{fbt_classic_header}

Breaking News

latest

अपहरणकर्ताओं को युवक को लेकर भागने का मौका नहीं मिल सका

 उत्तर प्रदेश में अपराधी लगातार सक्रिय हैं। हत्या, लूट और अपहरण जैसी बड़ी-बड़ी घटनाओं को अंजाम देने में जरा सा भी पीछे नहीं हट रहे हैं। ऐसा ...





 उत्तर प्रदेश में अपराधी लगातार सक्रिय हैं। हत्या, लूट और अपहरण जैसी बड़ी-बड़ी घटनाओं को अंजाम देने में जरा सा भी पीछे नहीं हट रहे हैं। ऐसा ही एक मामला देर रात अमेठी में भी देखने को मिला जहां पर जनपद मुख्यालय गौरीगंज कोतवाली व कस्बा क्षेत्र के कांग्रेस कार्यालय के पीछे वार्ड नंबर 1 में रहने वाले प्रभाकर शुक्ला का 19 वर्षीय पुत्र शाम को 7:30 बजे साइकिल से सब्जी खरीदने बाजार गया। जब उसको आने में देर लगी तभी युवक के पिता ने उसके मोबाइल पर फोन किया तब उसका मोबाइल किसी अज्ञात व्यक्ति ने उठाया और गाली देते हुए कहा कि तुम्हारे बेटे की साइकिल  ट्रांसफार्मर के पास पड़ी है और तत्काल ₹500000 की व्यवस्था करो नहीं तो तुम्हारे बेटे को भी मारकर उसी ट्रांसफॉर्मर के पास फेंक दूंगा। यही नहीं उसके कुछ देर बाद पिता के मोबाइल के साथ साथ पड़ोसी  के मोबाइल पर मैसेज भी आया। जिससे घरवाले तत्काल सकते में आ गए और उन्होंने पुलिस को सूचना दी। सूचना मिलते ही अमेठी पुलिस कप्तान स्वयं तत्काल सक्रिय हो गए। लड़के की खोजबीन के लिए जिले के सभी रास्तों को सील कर दिया गया। जनपद मुख्यालय स्थित गौरीगंज कोतवाली के साथ-साथ सर्विलांस टीम एसओजी टीम को तत्काल युवक की खोजबीन में लगा दिया और स्वयं भी तलाश में जुट गए । इस दौरान सभी होटल ढाबे  रोडवेज  बस स्टेशन तथा रेलवे स्टेशन इत्यादि पर सघन चेकिंग की जा रही थी परिणाम स्वरूप अपहरणकर्ताओं को युवक को लेकर भागने का मौका नहीं मिल सका। जिसके चलते अपहृत युवक जामो रोड स्थित केया अस्पताल के पीछे बेहोशी हालत में पड़ा मिला। तत्काल पुलिस कप्तान ने युवक को मलिक मुहम्मद जायसी संयुक्त जिला चिकित्सालय ले गए। जहां पर उसका उपचार किया जाने लगा। फिलहाल अब वहां होश में आ गया है और अभी पुलिस कस्टडी में है पुलिस उससे पूछताछ कर रही है और अपहरणकर्ताओं तक पहुंचने की कोशिश कर रही है। निश्चित रूप से अमेठी पुलिस कप्तान की सक्रियता एवं सूझबूझ से एक बड़ा हादसा होने से टला।


वहीं पर अपहरण किए जाने वाले लड़के शुभम के चाचा दिवाकर शुक्ला ने बताया कि मेरे भाई करण का अर्थात मेरा भतीजा शाम को सवा सात 7:30 घर से दवा लाने के लिए निकला उसके बाद वह गायब हो गया घर नहीं आया बाद में हमारे भैया के मोबाइल नंबर पर ₹500000 की फिरौती की मांग आई जिसमें हम लोगों ने तत्काल पुलिस को इंवॉल्व किया पूरे जिले की पुलिस एक्टिव हो गई जिसके चलते ढाई घंटे के उपरांत केया हॉस्पिटल के पीछे उसको बेहोशी हालत में पाया गया अब उसका इलाज चल रहा है होश आने के बाद ही कुछ पता चल पाएगा।




- शुभम शुक्ला का इलाज कर रहे मलिक मोहम्मद जायसी संयुक्त जिला चिकित्सालय के डॉक्टर पितांबर कनौजिया ने बताया कि यह अपहरण का मामला है इसको एसपी साहब अपनी गाड़ी से लाए भी थे यह डॉक्सी ऐड था अर्थात असीमित अनकांशस था। जैसे ही वह आया हम लोगों ने तत्काल उसका अच्छे से ट्रीटमेंट किया अब वह बच्चा होश में आ गया है अपना नाम पता सब कुछ बता रहा है और सभी को पहचान भी रहा है इसमें बच्चे की स्थिति काफी बेहतर है उसकी उम्र लगभग 18 वर्ष है।



 इस मामले में पुलिस क्षेत्राधिकारी गौरीगंज अर्पित कपूर ने बताया कि आज थाना गौरीगंज के प्रभाकर शुक्ला के द्वारा सूचना दी गई उनके पुत्र शुभम शुक्ला जिसकी उम्र 19 वर्ष है उसका अपहरण कर लिया गया है और अपहरणकर्ताओं के द्वारा ₹500000 की फिरौती मांगी जा रही है। इस सूचना के प्राप्त होते ही हमारे कप्तान साहब के द्वारा तत्काल सभी टीम एसओजी सर्विलांस और थाना गौरीगंज की पुलिस को एक्टिव कर दिया गया तथा बाहर निकलने वाले सभी रास्तों को सील कर दिया गया और होटल ढाबा सराय तथा बस स्टैंड आदि की सघन चेकिंग की गई परिणाम स्वरूप उनके लड़के को सकुशल बरामद कर लिया गया लड़के के पिता की तहरीर पर मुकदमा पंजीकृत कर लिया गया है तथा लड़के का बयान दर्ज किया जा रहा है शीघ्र ही घटना का अनावरण किया जाएगा।





No comments