Skip to main content

विटामिन ए की खुराक पिलाकर जिलाधिकारी ने शुरू किया ‘बाल स्वास्थ्य पोषण माह’

 




बच्चों में निमोनिया से बचाव के लिए पीसीवी का हुआ शुभारंभ

गाजीपुर- 13 अगस्त 2020

बच्चों को जन्म से लेकर पाँच साल के अंदर निमोनिया से बचाने के लिए न्यूमोकोकल कंज्यूगेट वैक्सीन (पीसीवी) साथ ही बच्चों को कई रोगों से बचाने के लिए ‘विटामिन ए संपूरण’ कार्यक्रम के लिए आयोजित होने वाले बाल स्वास्थ्य पोषण माह की शुरुआत की गयी। वृहस्पतिवार को जिला महिला चिकित्सालय में जिलाधिकारी ओम प्रकाश आर्य ने कोविड-19 के नियम और बचाव को ध्यान में रखते हुये नौ माह से ऊपर के बच्चों को विटामिन ए की खुराक पिलाकर अभियान का शुभारंभ किया। 

इस अवसर पर जिलाधिकारी ने कहा कि पीसीवी बच्चों को निमोनिया से बचाएगा और विटामिन ए की खुराक बच्चों को कई रोगों से बचाता है। उन्होने सभी बच्चों के माता-पिता से अपील किया कि ज्यादा से ज्यादा लोग इस अभियान और टीके का लाभ उठाएँ ताकि बच्चों का भविष्य सुरक्षित हो सके। 

इस मौके पर जिला प्रतिरक्षण अधिकारी एवं एसीएमओ डॉ उमेश कुमार ने बताया कि निमोनिया से बचाव के लिए पीसीवी की शुरुआत आज प्रदेश के 56 जनपदों में एक साथ की जा रही है। साथ ही साथ बाल स्वास्थ्य पोषण माह के तहत बच्चों को कई तरह की बीमारियों से बचाने के लिए विटामिन ए की खुराक पिलाने का कार्यक्रम भी आज से शुरू किया जा रहा है जो ग्राम स्वास्थ्य स्वच्छता एवं पोषण दिवस सत्रों में आने वाले बच्चों को पिलाई जाएगी।

डॉ उमेश कुमार ने बताया कि न्यूमोकोकल बैक्टीरिया के इंफेक्शन से बच्चे निमोनिया, मैनिंजाइटिस और सेप्टीसीमिया से ग्रसित हो जाते हैं। इससे बचाने के लिए बच्चों को न्यूमोकोकल केंजूगेट वैक्सीन लगाया जाता है। इससे बच्चा इन सभी बीमारियों से अजीवन बचा रहेगा। अब से पीसीवी को नियमित टीकाकरण कार्यक्रम में शामिल किया जा रहा है। इसकी तीन खुराकें बच्चों को दी जाएंगी। पहली बच्चे के जन्म के 6 सप्ताह, दूसरी 14 सप्ताह तथा तीसरी बूस्टर डोज नौ माह का होने पर दी जाएगी। यह सुविधा सरकारी अस्पतालों में नि:शुल्क मिलेगी। न्यूमोकोकल वैक्टीरिया के इंफेक्शन के चलते जिस बच्चे के दिमाग की झिल्ली में सूजन आ जाती है वह मैनिंजाइटिस से पीड़ित हो जाते हैं। वहीं, हाई फीवर व शरीर में जकड़न सेप्टीसीमिया के लक्षण हैं।

इस अवसर पर सीडीओ श्री प्रकाश गुप्ता, सीएमओ डॉ जी सी मौर्य, एसीएमओ डॉ के के वर्मा, डॉ डीपी सिन्हा, सीएमएस महिला अस्पताल डॉ तारकेश्वर, यूनिसेफ से डीएमसी आशीष, यूएनडीपी से प्रवीण उपाध्याय, डीसीपीएम अनिल वर्मा, डीपीएम प्रभुनाथ, अमित राय सहित तमाम लोग मौजूद रहे।





Comments

Popular posts from this blog

रिजवान की मौत में आया नया मोड फैमिली डाक्टर अब्दुल हकीम ने बताया

टांडा कोतवाली क्षेत्र में रिजवान की मौत में आया नया मोड फैमिली डाक्टर अब्दुल हकीम ने बताया की 18अप्रैल को रिजवान की फुफी ने बताया की बाइक से गिरने से लगी है चोट जिसकी जिला अस्पताल में इलाज के दौरान  संदिग्ध  परिस्थितियों  में  हुई  22 वर्षीय युवक  के   मृत्यु  के   मामले  में मृतक के  पिता ने पुलिस की पिटाई के कारण मृत्यु होना बता कर पुलिस के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने की तहरीर दिया है। 

मौके का पुलिस अधीक्षक आलोक प्रियदर्शीएवं अपर पुलिस अधीक्षक अवनीश कुमार मिश्र ने निरीक्षण कर  जांचोपरांत कार्यवाही का आश्वासन दिया। पुलिस ने जहाँ पुलिस द्वारा  मारना पीटना बताया गया है ।उस घटनास्थल के आस पास लगे सीसी कैमरे  के फुटेज का निरीक्षण किया ।जिसमें किसी भी प्रकार की मार पीट की घटना दिखाई नही दे रही है । बैरहाल पुलिस हर बिंदुओं पर जांच कर रही है। शव का पोस्टमार्टम होने के बाद सुरक्षा व्यवस्था के बीच शव को मृतक के परिजनों को सौंप दिया गया। जिसके बाद बाद नमाज मगरिब शव को सलार गढ़ कब्रिस्तान में सुपुर्द ए खाक कर दिया गया। प्रशासन द्वारा सुपुर्द ए खाक में सीमित ही लोगों को जाने की अनुमति दी गई। इस मौके …

टाण्डा तहसील के शहर के नेहरू नगर मे 5 साल की बच्ची तृषा की रिपोर्ट आई पाज़िटिव

टाण्डा तहसील के नेहरू नगर में एक 5 साल की बच्ची तृषा पुत्री दिनेश कनौजिया करोना पाज़िटिव आई है। यह लोग मुंबई से चलकर इलाहाबाद आए थे ट्रेन से ।वहां से बस के द्वारा अकबरपुर आए थे। बच्ची को बुखार था प्राथमिक की स्क्रीनिंग में बच्चे को वहीं पर कोरंटाइन करा दिया गया था यह लोग 24 तारीख को यहां पर आए थे मौके पर टाण्डा एसडीएम अभिषेक पाठक व टाण्डा सीओ अमर बहादुर पहुंच कर एरिया को किया सील और लोगों से दूरी बनाने की अपील किया उसके बाद सीलिंग की कार्रवाई प्रारंभ होगी




यूपी के टॉप मोस्ट अपराधियों की बनाई गई लिस्ट

यूपी के टॉप मोस्ट अपराधियों की बनाई गई लिस्ट.

डीजीपी मुख्यालय ने बनाई 33 टॉप मोस्ट अपराधियों की लिस्ट.
लिस्ट में मुख्तार अंसारी, अतीक अहमद, ब्रजेश सिंह समेत 33 अपराधियों के नाम.

उत्तर प्रदेश में फिर शुरू होगा ऑपरेशन  क्लीन