Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Classic Header

{fbt_classic_header}

Breaking News

latest

भारतीय राजनीति के युगपुरुष, असंख्य भाजपा कार्यकर्ताओं के पथ प्रदर्शक एवं हमारे प्रेरणा स्त्रोत पूर्व प्रधानमंत्री भारत रत्न श्रद्धेय अटल बिहारी वाजपेयी जी

*इटावा* भारतीय राजनीति के युगपुरुष, असंख्य भाजपा कार्यकर्ताओं के पथ प्रदर्शक एवं हमारे प्रेरणा स्त्रोत पूर्व प्रधानमंत्री भारत रत्न श...





*इटावा* भारतीय राजनीति के युगपुरुष, असंख्य भाजपा कार्यकर्ताओं के पथ प्रदर्शक एवं हमारे प्रेरणा स्त्रोत पूर्व प्रधानमंत्री भारत रत्न श्रद्धेय अटल बिहारी वाजपेयी जी की द्वितीय पुण्यतिथि पर भारतीय जनता पार्टी इटावा कार्यालय पर संगठन के मुखिया जिलाध्यक्ष अजय प्रताप सिंह धाकरे जी ने जिलापदधिकारियो के साथ आदरणीय के चित्र पर पुष्पांजलि करके श्रद्धांजलि अर्पित की ।


शोकसभा का संचालन जिला महामंत्री शिवाकांत चौधरी जी ने करते हुए कहा :-


" हर चुनौती से दो हाथ मैंने किये,

आंधियों में जलाए हैं बुझते दिये "


जननायक, विलक्षण नेतृत्वकर्ता, दूरदर्शी, अप्रतिम वक्ता, अजातशत्रु, भारत रत्न, परम श्रद्धेय स्व. अटल बिहारी वाजपेयी जी की पुण्यतिथि पर उनके चरणों मे सादर नमन करते हुए याद किया ।
शोकसभा को सम्बोधित करते हुए जिला मंत्री चक्रेश जैन  ने कहा भारत रत्न श्रद्धेय अटल बिहारी वाजपेयी जी देशभक्ति व भारतीय संस्कृति की प्रखर आवाज थे। वह एक राष्ट्र समर्पित राजनेता होने के साथ-साथ कुशल संगठक भी थे जिन्होंने भाजपा की नींव रख उसके विस्तार में एक अहम भूमिका निभाई और करोड़ों कार्यकर्ताओं को देश सेवा के लिए प्रेरित किया ,जिला मंत्री जितेंद्र गौड़ जी ने शोकसभा को सम्बोधित करते हुए अटल जी के जीवन पर संक्षिप्त में प्रकाश डालते हुए बताया अटल बिहारी वाजपेयी का जन्म 25 दिसंबर, 1924 को मध्य प्रदेश के ग्वालियर में एक स्कूल शिक्षक के परिवार में हुआ। उन्होंने 16 अगस्त 2018 को दिल्ली के एम्स में आखिरी सांस ली थी ।
अंत मे जिलाध्यक्ष जी ने अपने शोक संदेश में अटल जी के विशाल व्यक्तित्व पर प्रकाश डालते हुए बताया  यह देश अटल जी के योगदान को कभी नहीं भुला सकता है। उनके नेतृत्व में हमने परमाणु शक्ति में भी देश का सर ऊंचा किया। पार्टी नेता हो, सांसद हो, मंत्री हो या फिर प्रधानमंत्री, अटल जी ने हर भूमिका में आदर्श स्थापित किया । सभा को सम्बोधित करते हुए आगे जिलाध्यक्ष जी ने कहा अटल जी के जीवन की विशेषता के रूप में बहुत सारी बातें कही जा सकती हैं। उनके भाषण की सदैव चर्चा होती है, लेकिन जितनी ताकत उनके भाषण में थी, उससे कई गुणा अधिक ताकत उनके मौन में थी। वो जनसभा में भी जब दो-चार वाक्य बोलने के बाद मौन हो जाते थे, तो लाखों की भीड़ के आखिरी व्यक्ति को भी उस मौन से संदेश मिल जाता था ।
शोकसभा में जिला उपाध्यक्ष सुबोध तिवारी,शिव किशोर धनगर, जिला मीडिया प्रभारी रोहित शाक्य,सह संपर्क प्रमुख राहुल सेंगर, कार्यालय प्रभारी रवि प्रकाश पाल, सह कार्यालय प्रभारी अवनीश भदौरिया,बकेवर मंडल अध्यक्ष सुशील राजपूत, ईशु तिवारी सहित पदाधिकारी एवं कार्यकर्ता मौजूद रहे ।




No comments