Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Classic Header

{fbt_classic_header}

Breaking News

latest

केंद्रीय मंत्री ने फिरोजाबाद की 15 महिलाओं से की वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से बात

आज 11 बजे केंद्रीय मंत्री हरदीप सिंह पूरी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से फ़िरोज़ाबाद की 15 महिलाओं से की बात , पहले प्रधानमंत्री मोदी को करन...




आज 11 बजे केंद्रीय मंत्री हरदीप सिंह पूरी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से फ़िरोज़ाबाद की 15 महिलाओं से की बात , पहले प्रधानमंत्री मोदी को करनी थी इन महिलाओं से बात अचानक ही प्रधानमंत्री का कार्यक्रम निरस्त हुआ, महिलाओं में हुई निराशा



20 अगस्त (आज) प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी स्वच्छ सर्वेक्षण 2020 की अवार्ड की घोषणा करनी थी लेकिन अचानक ईस कार्यक्रम में बदलाव हुआ, केंद्रीय मंत्री हरदीप सिंह पुरी housing and urban.minister central government ने फिरोजाबाद जिले की  15  महिलाओं से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के द्वारा बात की 


दरअसल फिरोजाबाद की रहने वाली महिलाओं ने जाहरवीर स्वयं सहायता समूह बनाकर वेस्ट मेटेरियल से सजावटी वस्तुओं का निर्माण करती है और यह महिलाएं इन वस्तुओ को बाजार में बेचती हैं, । इससे इनको धन मिलता है जिससे इनके घर खर्च आराम से निकल आता है। लगभग ढाई सौ सदस्यों वाली इस समिति में सभी तरह की महिलाएं हैं यह लोग कचरे और कवाड़े वालों से वेस्ट वस्तुओं को खरीदते हैं , उसके बाद उनको डेकोरेटिव आइटम बना कर बाजार में बेचती हैं।  जिससे इनकी जीवन ज्ञापन में काफी उन्नति हुई है। वेस्ट टू वैल्यू यानि बेकार बड़ी चीजों को सुंदर और सजावटी बनाने का काम इन महिलाओं द्वारा किया जाता है



आज प्रधानमंत्री मोदी द्वारा इन महिलाओं के एक समूह में 15 महिलाओं से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए बात कर रहा था लेकिन तैयारी पूरी कर ली गई थी लेकिन अचानक की कार्यक्रम में बदलाव हुआ जिसके कारण हाउसिंग एंड अर्बन मिनिस्टर हरदीप सिंह पुरी ने इन महिलाओं से बात की जब हमने इन महिलाओं से बात की तो उनका कहना था कि रॉ मैटेरियल उनको बाजार से मिल जाता है। जो काफी सस्ता मिलता है उसके बाद यह घरों में डेकोरेटिव बनाती हैं और कई तरह के सजावटी सामान इस वेस्ट मटेरियल से बना कर बाजार में भेजती हैं इनके सामान बड़ी-बड़ी दुकानों पर भी जाते हैं प्रत्येक महिला को कम से कम ₹10हजार प्रति माह की आमदनी हो जाती है।



 गीता सिंह.. ने कहा कि वह आज प्रधानमंत्री से बात नहीं हो सकी इससे वे थोड़ा सा दुखी है. लेकिन कोई बात नहीं है यह पूछने पर कि उन्हें क्या क्या कठिनाई आती है उनका कहना है कि वेस्ट मटेरियल कम दामों पर बाजार में मिल जाता है और उसके बाद  उसको डेकोरेटिव करके बाजार में भेज देती हैं। उन्होंने मुख्यमंत्री तथा प्रधानमंत्री से मांग की है कि ऐसी महिलाओं के प्रोत्साहन के लिए भी कोई ठोस योजना बनानी चाहिए।





रिपोर्ट बृजेश सिंह राठौर फिरोजाबाद



No comments