Skip to main content

मध्य रेल,मुंबई मंडल पर ड्रोन आधारित निगरानी प्रणाली





ड्रोन निगरानी तकनीक, सीमित मेनपावर  के साथ बड़े क्षेत्रों पर सुरक्षा निगरानी के लिए एक महत्वपूर्ण और बचत प्रभावी उपकरण के रूप में उभरा है।मध्य रेल के मुंबई मंडल ने हाल ही में रेलवे क्षेत्रों  जैसे  स्टेशन परिसर, रेलवे ट्रैक सेक्शन, यार्ड, वर्कशॉप आदि में  बेहतर सुरक्षा और निगरानी के लिए दो निंजा यूएवी की खरीद की है। आरपीएफ  आधुनिकीकरण सेल के चार सदस्यीय कर्मचारियों की एक टीम को प्रशिक्षित किया गया है और इन ड्रोनों को उड़ाने के लिए लाइसेंस प्राप्त किया है। ।
ड्रोन की परिचालन सीमा 2 किमी है और यह 25 मिनट तक उड़ान भरता है। इसका टेक ऑफ वेट 2 किलोग्राम तक है और दिन के समय 1280x720 पिक्सल पर एचडी इमेज कैप्चर कर सकता है। इसमें रियल टाइम ट्रैकिंग, वीडियो स्ट्रीमिंग और स्वचालित विफल मोड भी है। ड्रोन निन्म प्रकार से सहायक होंगे:
• रेलवे की संपत्ति का निरीक्षण और यार्ड, कारखानों, कार शेड आदि की सुरक्षा सुनिश्चित करना।
• रेलवे परिसर में अपराधिक और असामाजिक गतिविधियों पर निगरानी। इसमें जुआ, कचरा फेंकना, फेरी लगाना आदि शामिल हो सकते हैं।
• ट्रेनों के सुरक्षित संचालन के लिए संवेदनशील स्थानों का विश्लेषण
• आपदा स्थल पर निगरानी और अन्य एजेंसियों के साथ समन्वय।
• रेलवे संपत्ति पर अतिक्रमण का आकलन करने के लिए रेलवे संपत्ति का मानचित्रण
• त्योहारों आदि के समय तथा गंभीर परिस्थितियों में भीड़ की निगरानी
ड्रोन बीट्स की डिज़ाइन मंडल केक्षेत्राधिकार में स्थित रेलवे संपत्ति, संवेदनशीलता, अपराधियों की गतिविधियों आदि के आधार पर तैयार किया गया  यह ड्रोन "आई इन द स्काई" के रूप में कार्य कर पूरे क्षेत्र की निगरानी करता है। यदि किसी भी संदिग्ध गतिविधि पर नोटिस की जाती है तो अपराधिक लाइव को प्राप्त कर निकटतम आरपीएफ पोस्ट को सूचित किया जाता है।  *दो ऐसे अपराधियों को वास्तविक समय के आधार पर वाडीबंदर यार्ड क्षेत्र में और एक को कलंबोली यार्ड में पकड़ा गया, जबकि वे यार्ड में तैनात रेलवे कोच / वैगन के अंदर चोरी की कोशिश कर रहे थे।*
--- ----
दिनांक: 17 अगस्त, 2020
पीआर नं .2020 / 08/22
यह विज्ञप्ति जनसंपर्क विभाग, मध्य रेल, छत्रपति शिवाजी महाराज टर्मिनस मुंबई द्वारा जारी की गई है।





Comments

Popular posts from this blog

रिजवान की मौत में आया नया मोड फैमिली डाक्टर अब्दुल हकीम ने बताया

टांडा कोतवाली क्षेत्र में रिजवान की मौत में आया नया मोड फैमिली डाक्टर अब्दुल हकीम ने बताया की 18अप्रैल को रिजवान की फुफी ने बताया की बाइक से गिरने से लगी है चोट जिसकी जिला अस्पताल में इलाज के दौरान  संदिग्ध  परिस्थितियों  में  हुई  22 वर्षीय युवक  के   मृत्यु  के   मामले  में मृतक के  पिता ने पुलिस की पिटाई के कारण मृत्यु होना बता कर पुलिस के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने की तहरीर दिया है। 

मौके का पुलिस अधीक्षक आलोक प्रियदर्शीएवं अपर पुलिस अधीक्षक अवनीश कुमार मिश्र ने निरीक्षण कर  जांचोपरांत कार्यवाही का आश्वासन दिया। पुलिस ने जहाँ पुलिस द्वारा  मारना पीटना बताया गया है ।उस घटनास्थल के आस पास लगे सीसी कैमरे  के फुटेज का निरीक्षण किया ।जिसमें किसी भी प्रकार की मार पीट की घटना दिखाई नही दे रही है । बैरहाल पुलिस हर बिंदुओं पर जांच कर रही है। शव का पोस्टमार्टम होने के बाद सुरक्षा व्यवस्था के बीच शव को मृतक के परिजनों को सौंप दिया गया। जिसके बाद बाद नमाज मगरिब शव को सलार गढ़ कब्रिस्तान में सुपुर्द ए खाक कर दिया गया। प्रशासन द्वारा सुपुर्द ए खाक में सीमित ही लोगों को जाने की अनुमति दी गई। इस मौके …

टाण्डा तहसील के शहर के नेहरू नगर मे 5 साल की बच्ची तृषा की रिपोर्ट आई पाज़िटिव

टाण्डा तहसील के नेहरू नगर में एक 5 साल की बच्ची तृषा पुत्री दिनेश कनौजिया करोना पाज़िटिव आई है। यह लोग मुंबई से चलकर इलाहाबाद आए थे ट्रेन से ।वहां से बस के द्वारा अकबरपुर आए थे। बच्ची को बुखार था प्राथमिक की स्क्रीनिंग में बच्चे को वहीं पर कोरंटाइन करा दिया गया था यह लोग 24 तारीख को यहां पर आए थे मौके पर टाण्डा एसडीएम अभिषेक पाठक व टाण्डा सीओ अमर बहादुर पहुंच कर एरिया को किया सील और लोगों से दूरी बनाने की अपील किया उसके बाद सीलिंग की कार्रवाई प्रारंभ होगी




यूपी के टॉप मोस्ट अपराधियों की बनाई गई लिस्ट

यूपी के टॉप मोस्ट अपराधियों की बनाई गई लिस्ट.

डीजीपी मुख्यालय ने बनाई 33 टॉप मोस्ट अपराधियों की लिस्ट.
लिस्ट में मुख्तार अंसारी, अतीक अहमद, ब्रजेश सिंह समेत 33 अपराधियों के नाम.

उत्तर प्रदेश में फिर शुरू होगा ऑपरेशन  क्लीन