Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Classic Header

{fbt_classic_header}

Breaking News

latest

कृषि अध्यादेशों के विरोध में सड़कों पर उतरे किसान जिले में कई स्थानों पर लगाया जाम किया जोरदार प्रदर्शन।इस चक्का जाम को कई संगठनों का मिला समर्थं

केन्द्र सरकार द्वारा पारित तीन कृषि बिलों के विरोध में आज भारतीय किसान यूनियन ने देशव्यापी आंदोलन की अपनी घोषणा के तहत जनपद में अने...







केन्द्र सरकार द्वारा पारित तीन कृषि बिलों के विरोध में आज भारतीय किसान यूनियन ने देशव्यापी आंदोलन की अपनी घोषणा के तहत जनपद में अनेकों स्थानों पर सड़कों पर उतरकर किसान कर्फ्यू के नाम पर जाम लगा चक्का जाम कर दिया है।जनपद में नौ स्थानों पर भाकियू के स्थानीय नेताओं और पदाधिकारियों के नेतृत्व में किसान चक्का जाम में जुटे हैं।बता  दें कि केन्द्र सरकार द्वारा पारित किये गये तीन कृषि बिलों, गन्ना बकाया भुगतान और अन्य समस्याओं को लेकर आज भाकियू ने 25 सितम्बर को देशव्यापी आंदोलन के अन्तर्गत जनता कर्फ्यू और चक्का जाम का ऐलान किया हुआ था,इस आंदोलन को मजबूती के साथ सफल बनाने के लिए भाकियू के बड़े नेताओं ने अपनी अंतिम रणनीति बनाई जिसका आज खासा असर देखने को भी मिला।भाकियू के राष्ट्रीय प्रवक्ता ने गत दिवस यूनियन के अन्य पदाधिकारियों के साथ मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से भी मुलाकात की थी, लेकिन इसके बाद भी भाकियू ने अपने आंदोलन पर कायम रहने का ऐलान किया था।जनपद मुजफ्फरनगर में नौ स्थानों पर भाकियू ने चक्का जाम के प्वाइंट तय कर दिये हैं यहां पर तहसील और ब्लॉक अध्यक्षों को इस आंदोलन को सफल बनाने की जिम्मेदारी सौंपी गई थी।वही इस चक्का जाम के दौरान जगह जगह चक्का जाम पॉइंट पर भाकियू राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत पहुँचे ओर चक्का जाम का जायजा लेते रहे।और साथ ही हम आपको बता दे की इस चक्का जाम के दौरान आम आदमी पार्टी का भाकियू को पूर्ण से समर्थं मिला और आम आदमी पार्टी के पदाधिकारियो ने किसानों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर इस चक्का जाम को सफल बनाने में अपना सहयोग दिया।वही जिले में विभिन्न जगहों ओर भाकियू ने जहां जहाँ चक्का जाम लगाया हुआ था वहां चक्का जाम के दौरान राहगीरों,बस चालको एवं सवारियों को अपने स्थान तक पहुँचने में काफी कठिनाइयों का सामना करना पड़ा।




संजय कुमार मुज़फ्फरनगर



No comments