Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Classic Header

{fbt_classic_header}

Breaking News

latest

गोशाला में दर्जनों पशुओं के मिले मृत शव ।

-- हरदोई बदहाली के चलते गोशाला में दर्जनों पशुओं भूख प्यास की तड़प में गवांई जान -- प्रधान सिकरेट्री की घोटाले की काली करतूत में गयी द...



-- हरदोई बदहाली के चलते गोशाला में दर्जनों पशुओं भूख प्यास की तड़प में गवांई जान

-- प्रधान सिकरेट्री की घोटाले की काली करतूत में गयी दर्जनों पशुओं की जान।

--गोशाला में दर्जनों पशुओं के शव मिलने पर हिन्दू युवावाहिनी भारत संगठन  के लोगों ने जमकर किया बवाल।

---घण्टों जारी रहा बवाल।

एंकर---   योगी सरकार भले ही गौशाला को अपना ड्रीम प्रोजेक्ट बता रही हो लेकिन हरदोई में गौशालाये लगातार घोटाले की भेंट चढ़ रही है --- जिस तरह सीएम योगी आदित्यनाथ की सरकार यूपी में हर ग्राम स्तर पर एक-एक गौशाला बनाने का काम किया ।और उनमें आवारा पशुओं को शरण दी गई जिनके चारा पानी के लिए प्रधान के खाते में लगातार काफी धनराशि भी भेजी जा रही है --लेकिन अफसोस घोटाले बाजी की करतूत के चलते दर्जनों गाय चारा घोटाले की भेंट चढ़ रही हैं। और मौत की आगोश में है ।ऐसा ही एक मामला हरदोई के सुरसा ब्लाक के म्योनी ग्राम सभा के निबहरा गौशाला का है --- जहां निबहरा गांव में स्थित गौशाला दर्जनों पशुओं के भूख की तड़प में मौत हो गयी । आएगा गौशाला में ना चरा था ना पानी जिसके ना होने के कारण दर्जनों पशुओं को मौत की आगोश में समा गए --- और जब कई दिनों से पशुओं के सड़ने की दुर्गंध आसपास के इलाके में फैलने लगी तो हिंदू युवा वाहिनी भारत संगठन के लोगों ने हरदोई से जाकर वहां पर बवाल शुरू किया । और गायों के हित में गौशाला को खुलवाया जब वहां का नजारा देखा तो दर्जनों गायों के शव पड़े हुए थे । चौकीदार का कहना है कि उसके द्वारा सिकरेटरी और प्रधान को सूचना दी गई लेकिन अफसोस ना तो सिकरेटरी प्रधान ले खाने की व्यवस्था की ना ही पानी की जब गायों के मरने से हिंदू संगठन के लोगों ने आक्रोशित होकर प्रशासन को अपना आक्रोश व्यक्त किया और वहां पर भारी तादाद में लोगों का जमावड़ा एकत्र हो गया । जिसे प्रशासन के हाथ पैर फुले और भारी पुलिसबल वहां पहुचा।  प्रशासनिक अमले ने मौके पर पहुंचकर मामले को शांत कराया व दोषियों पर कार्रवाई की बात कही जिस पर हिंदू संगठन के लोगों ने संस्तुति जाहिर की और अपना धरना समाप्त किया।





No comments