Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Classic Header

{fbt_classic_header}

Breaking News

latest

पीड़ित किसान

लखीमपुर खीरी जहां एक और सरकार किसानों के हित की बात कर रही है लेकिन हालात यह हैं कि किसान अभी भी अपनी दैनिक स्थिति से गुजर रहा है और किसानों...



लखीमपुर खीरी



जहां एक और सरकार किसानों के हित की बात कर रही है लेकिन हालात यह हैं कि किसान अभी भी अपनी दैनिक स्थिति से गुजर रहा है और किसानों को पुरसाहाल पूछने वाला कोई भी नहीं है ।कुछ ऐसा ही किसानों की स्थिति का नजारा लखीमपुर खीरी में देखने को मिला है दरअसल लखीमपुर खीरी के पलिया तहसील इलाके के संपूर्णानगर रहने वाले एक किसान ने सिस्टम से परेशान होकर अपने साढे 4 एकड़ खेत मे तैयार खड़ी धान की फसल  खेत में ही नष्ट कर दी। सरकार के 2022 तक किसान की आमदनी दोगुनी  करने वाले दावों के बीच किसान बेहाल नजर आ रहा है। ना ही क्रय केंद्र धान खरीदने में रुचि दिखा रहे हैं और ना ही जिला प्रशासन किसानों के लिए संजीदा नजर आ रहा है किसान के माने लागत की अपेक्षा मंडी में ₹1000 प्रति कुंटल धान बिक रहा है और क्रय केंद्रों पर महज खानापूर्ति की जा रही है जिसके चलते वह अपनी फसल खेत में ही नष्ट  कर रहे हैं मामले में किसानों की जले पर नमक छिड़क रहे जिला प्रशासन इसे सस्ती लोकप्रियता करार दे रहा है जिला प्रशासन की मानें तो जिले में 134 क्रय केंद्र खोले गए हैं। जिनमें लगातार किसानों से उनके धान की खरीद की जा रही हैै।








No comments