Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Classic Header

{fbt_classic_header}

Breaking News

latest

नो स्कूल-नो फीस " लाॅकडाउन में अनवरत रूप से सात माह तक विद्यालय बन्द रहें शिक्षा शून्य के बराबर रहा विद्यार्थी अभिभावक निजी विद्यालयों के फीस के दबाव से परेशान ।।

  सेवा में  श्री मान जिलाधिकारी गाजीपुर विषय:- " नो स्कूल-नो फीस " लाॅकडाउन में अनवरत रूप से सात माह तक विद्यालय बन्द रहें शिक्षा ...

 


सेवा में 

श्री मान जिलाधिकारी गाजीपुर


विषय:- " नो स्कूल-नो फीस " लाॅकडाउन में अनवरत रूप से सात माह तक विद्यालय बन्द रहें शिक्षा शून्य के बराबर रहा विद्यार्थी अभिभावक निजी विद्यालयों के फीस के दबाव से परेशान ।।


महोदय,

         विनम्रता के साथ आप श्रीमानजी को यह अवगत कराना है कि विद्यालयों के बन्द होने के साथ-साथ हम अभिभावकों का हाल रोजगार भी लॉकडाउन में बन्द रहा तथा इतना काफी आर्थिक क्षति हुआ कि अब तक हम आम जनमानस सही दिशा पर नहीं आ सकें उस पर ऊपर से विद्यालय में बच्चो से पूरी माह का फीस मांगने का प्रयास किया जा रहा है ऐसे में हम सभी अभिभावक लोग अभी आर्थिक रूप से सम्भल भी नहीं पाए है फिर हम अपने बच्चों का फीस किस तरह देंगे जबकि विद्यालय लगभग सात माह से अब तक बन्द रहे हैं और हमारे पास इन्टरनेट से पढ़ने की व्यवस्था नहीं है जनपद में इस बात की चर्चा है कि पड़ोस के जिले में फीस माफी कि चर्चा जोरो पर चल रहा है हम जनपदवासियों की श्री मान जी से अपेक्षा है कि आप अपने स्तर से विद्यालयों को आदेशित करें की विगत लॉकडाउन की परिस्थितियों को देखते हुए हर अभिभावक आर्थिक रूप से डवाडोल रोजगारपस्त होने के कारण अभी भी संभल नहीं पाया है इन परिस्थितियों में अभिभावक बच्चों  का फीस देने में अपने आप को असमर्थ पा रहा है जबकि सात माह से हमारा बच्चा विद्यालय में एक दिन भी शिक्षा ग्रहण करने नहीं गया फिर पूरी  फीस मांगने का कैसा दबाव ? " नो स्कूल-नो फीस के लिए अभिनव सिंह एवं आरिफ खान के नेतृत्व में हस्ताक्षर अभियान चलाया गया जिसका व्यापक असर प्रदेश स्तर तक हुआ  और सभी अभिभावकगणों एवं आमजनों के दबाव स्वरूप माननीय उप-मुख्यमंत्री सह शिक्षामंत्री दिनेश शर्मा जी ने  निर्देश दिया की कोई भी निजी विद्यालय कोरोना काल के दौरान कि किसी भी तरह का फीस किसी भी अभिभावक से ना लें तथा प्रशासन को इसके स्वरूप दिशा निर्देश दिए गए थे परंतु धरातल पर माननीय उपमुख्यमंत्री का दिशा निर्देश नगण्य साबित होता दिख रहा हैं। आम जनमानस की पीड़ा को समझते हुए आप श्रीमान हमारी आर्थिक रूप से रक्षा करने का कृपा करें ।


             अतः श्री मान जी से विनम्र प्रार्थना है कि समस्त अभिभावक का दुख दर्द समझते हुए आप अपने स्तर से विद्यालयों के अधिकारी एवम् प्राचार्यो को दिशा-निर्देशित करते हुए उचित सुझाव की व्यवस्था बनाते हुए फीस माफी से सम्बन्धित आदेश देने की कृपा करें ताकि हम अभिभावकों को फीस देने में सहुलियत हो और आर्थिक रूप से किसी को स्कूल फीस के दबाव में बच्चों की शिक्षा बाधित न हो..... 

इस दौरान अभिनव सिंह आरिफ खान सुखपाल यादव अभिषेक चौरसिया राकेश यादव हरकेश यादव 

*नोट अभिनव सिंह आरिफ खान का बयान*

।। 


                                  भवदीय 

                           अभिनव सिंह एवं एवं आरिफ खान  युवा सपा नेता गाजीपुर एवं सभी अभिभावकगण गाजीपुर






No comments