Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Classic Header

{fbt_classic_header}

Breaking News

latest

भाई का दामाद ही निकला अपरह्नकर्ता एसपी ने प्रेस वार्ता कर घटना का क्या खुलासा

रिपोर्ट:-- वीरेंद्र तोमर  बागपत  - बागपत जनपद में बीते कल हुए लोहा व्यापारी आदिश जैन के अपहरण मामले में पुलिस को बड़ी कामयाबी मिली है। सीसीटी...



रिपोर्ट:-- वीरेंद्र तोमर  बागपत 





- बागपत जनपद में बीते कल हुए लोहा व्यापारी आदिश जैन के अपहरण मामले में पुलिस को बड़ी कामयाबी मिली है। सीसीटीवी के आधार पर पुलिस ने 24 घण्टे के भीतर अपहरण की घटना का खुलासा करते हुए 8 अपहरणकर्ताओं को गिरफ्तार कर लिया है। व्यापारी के अपहरण की घटना की साजिश साथी दो व्यापारियों ने मिलकर की थी जिनमे एक अपह्रत व्यापारी के भाई का दामाद है। वही ख़ुलासा करने ली टीम को एसीएस होम की तरफ से 2 लाख रुपए इनाम की घोषणा की गई है।



 दरअसल वारदात बीते कल बड़ौत कोतवाली इलाके के खत्री गढ़ी मोहल्ले की है जहां से सुबह 5 बजे लोहा व्यापारी आदिश जैन का वैगनआर कार में सवार बदमाशों ने अपहरण कर लिया था। जिसके बाद ना सिर्फ बागपत बल्कि समूचे उत्तर प्रदेश में हड़कंप मच गया था और अपहरण की वारदात के बाद सीएम योगी की भी सख्ती देखने को मिली थी। लेकिन महज 12 घंटे के अंदर पुलिस ने व्यापारी को सकुशल बरामद कर लिया था। जबकि अब पुलिस ने 8 अपरहणकर्ताओं को भी गिरफ्तार कर अपराध की साजिश का पर्दाफाश कर दिया है। दरअसल अपनी इस पूरी वारदात की साजिश व्यापारी आदिश जैन के 2 साथी व्यापारियों गौरव जैन अभिषेक जैन ने रची थी ।जिनमें गौरव जैन अपहरण हुए व्यापारी आदिश जैन के भाई का दामाद है। जिन्होंने अपने दोनों नौकरों के साथ मिलकर अपनाने की वारदात को अंजाम दिया था। जिसमें 8 लोग इस पूरी घटना में शामिल रहे थे। वही दिनदहाड़े हुए अपहरण की वारदात के बाद अपहरण का एक सीसीटीवी भी वायरल हुआ था फिलहाल पुलिस ने अपराह्न में शामिल सभी 8 बदमाशों को गिरफ्तार कर लिया है ।



 अपहरण की पूरी साजिश आदिश जैन के भाई के दामाद गौरव जैन ने व्यापारी अभिषेक जैन के साथ मिलकर रची थी। जिसके लिए उन्होंने अभिषेक जैन के दोनों नोकर सुमित और अमित को इस योजना में शामिल किया और योजना के अनुसार पहले राकी नाम के एक युवक से वैगनआर खरीदी फिर उसके बाद योजना के तहत मोहसिन और अश्वनी नाम के दो लड़कों को तैयार किया गौरव जैन लगातार व्यापारी के परिवार के संपर्क में बना रहा और एक-एक पल की जानकारी अपहरण करने वाले बाकी सदस्य को देता रहा गौरव को जानकारी थी। कि सुबह 5:00 बजे के वक्त आदिश जैन अपनी दुकान पर जाएंगे उसी के तहत अनुज ,मोहसिनऔर अश्वनी गाड़ी लेकर व्यापारी के मकान से चंद दूरी पर खड़े हो गए और जैसे ही आदिश जैन घर से कुछ दूर निकले तो तीनों ने उन्हें गाड़ी में डाल दिया और फरार हो गए। जिसके बाद अपहरण कर लेने की जानकारी उन्होंने अभिषेक को दी और फिर अभिषेक जैन और गौरव जैन सहानुभूति के लिए अपना व्यापारी आदिश जैन के बेटे के संपर्क में बने रहे वही सुमित और अमित फोन के जरिए लगातार अपहरण कर ले जाने वाले तीनों अभियुक्तों के संपर्क में थे।


: वहीं पुलिस के मुताबिक घटना के लिए आठ टीमों का गठन किया गया था। जिसमें सोनीपत जनपद की पुलिस भी शामिल थी वही लगातार सभी नामों पर चेकिंग अभियान चलाया गया और जंगलों में कॉम्बिंग भी की जा रही थी।। जिसके चलते खुद को घिरा देख बदमाश व्यापारी को खेकड़ा इलाके के रटौल में छोड़कर फरार हो गए थे। फिलहाल पुलिस ने सर्विलांस और सीसीटीवी की मदद से इस पूरी का खुलासा करते हुए अपहरण में शामिल 8 अभियुक्तों को गिरफ्तार कर लिया है








No comments