Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Classic Header

{fbt_classic_header}

Breaking News

latest

सपाइयों का प्रदर्शन

-सूबे में ध्वस्त कानून व्यवस्था के मद्देनजर सुल्तानपुर में सपाइयों ने जोरदार प्रदर्शन किया। इस दौरान सपाइयों न सिर्फ जुलूस निकाला बल्कि प्रद...




-सूबे में ध्वस्त कानून व्यवस्था के मद्देनजर सुल्तानपुर में सपाइयों ने जोरदार प्रदर्शन किया। इस दौरान सपाइयों न सिर्फ जुलूस निकाला बल्कि प्रदेश सरकार के खिलाफ नारेबाजी की। जुलूस निकालने के बाद ये सभी कलेक्ट्रेट पहुंचे और गेट के सामने जमकर प्रदर्शन किया। इसके बाद राज्यपाल को संबोधित ज्ञापन जिलाधिकारी को सौंपा। 


वीओ-इस् दौरान सपाइयों ने कहा कि जब से भाजपा सरकार आई है तब से महिलाओं और बच्चियों के साथ लाखो अपराध हुये हैं।  देश में हो रहे अपराधों में उत्तर प्रदेश प्रथम स्थान पर है। इन्होंने भाजपा सरकार में दलितों वंचितों और कमजोर तबकों की अनदेखी की जा रही है। वही जयसिंहपुर पूर्व सपा विधायक अरुण वर्मा ने प्रदर्शन के दौरान कहा कि आज धरना प्रदर्शन पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव के निर्देश में जो बलिया में घटना हुई और जो वीरेंद्र के द्वारा हत्या हुई है और कानून व्यवस्था को लेकर आज डीएम के माध्यम से राज्यपाल को संबोधित ज्ञापन दिया गया है। गलत कार्यो के खिला सपा पार्टी हमेशा खड़ी मिलेगी।



वीओ-वही मीडिया पर युवा सपा नेता ने भड़ास निकालते हुए कहा कि आपके ऊपर अभी तक क्यों नही मुकदमा दर्ज की गया। बलिया में जिला प्रशासन ने कार्यवाही की। वही नेता राकेश श्रीवास्तव उर्फ दीपू ने कहा कि बलिया के विधायक के बेटे के ऊपर मुकदमा जबतक नही दर्ज होगा। जबतक मीडिया ट्रायल नही होगा। आज समाजवादी सड़को पर निकले है। और कल अगर एफआईआर दर्ज नही होगा तो हमलोग पुनः कोतवाली को घेरने का काम करेंगे।



वीओ-सुल्तानपुर पूर्व सपा विधायक अनूप संडा ने कहा कि आज आरएसएस के दवाव में पूरा देश है। क्योंकि देश की एकता और अखंडता को सांप्रदायिक सौहार्द को खंडित करने का प्रयास किया जा रहा है। उन्होंने यह भी कहा कि राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ भारत की राजनीति का एक ऐसा गुड़ है जिसको जितना जल्दी समाप्त कर दिया जाय उतना ही इस देश के लिए उतना ही आवश्यक है। स्व नेता राज नारायन ने सबसे पहले आरएसएस नाम की संस्था को काला नाग कहा था। आरएसएस नाम की संस्था भारत माता को डसने का काम करती है। इसको समाप्त करना समाजवादियों की संकल्प है।


No comments